बिहार सरकार ने किया सीनियर IPS अमित लोढ़ा को सस्पेंड, ‘खाकी’ द बिहार चैप्टर’ से बढ़ी मुश्किलें

0

पटना: आईपीएस आदित्य कुमार के बाद अब आईजी अमित लोढ़ा की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है. एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार आईजी अमित लोढ़ा को बिहार सरकार ने सस्पेंड कर दिया है. हालांकि, पुलिस मुख्यालय ने अभी निलंबन की पुष्टि नहीं की है. बुधवार को विशेष निगरानी इकाई ने भारतीय पुलिस सेवा (IPS) के वरिष्ठ पदाधिकारी और मगध रेंज के तत्कालीन आईजी अमित लोढ़ा के खिलाफ केस दर्ज किया था. वहीं, अमित लोढ़ा पर निजी स्वार्थ के लिए वित्तीय अनियमितता का भी आरोप है.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

अमित लोढ़ा पर कार्रवाई

सतर्कता इकाई ने कहा कि चूंकि अमित लोढ़ा अभी भी एक सेवारत आईपीएस अधिकारी हैं और एक स्थापित लेखक नहीं हैं, इसलिए वह वेब सीरीज के लिए किसी फर्म के साथ करार नहीं कर सकते. अमित लोढ़ा पर सौदे से 12,372 रुपये प्राप्त करने का आरोप लगाया गया है , जबकि 38.25 लाख रुपये उनकी पत्नी कौमीदी के खाते में जमा किए गए थे. प्राथमिकी में कहा गया है कि “अवैध रूप से अर्जित धन के लेन-देन” को सुविधाजनक बनाने के लिए फर्म और कौमिडी के बीच एक समझौता हुआ था.

अमित लोढ़ा ने किया था ट्वीट

वहीं, अमित लोढ़ा ने आरोपों के बाद ट्वीट किया, “कभी-कभी जीवन आपको सबसे कठिन चुनौतियों का सामना कर सकता है, खासकर जब आप सही होते हैं. इस दौरान आपके चरित्र की ताकत दिखाई देती है. विजयी होने के लिए आपकी प्रार्थना और समर्थन की आवश्यकता है.” बता दें कि नेटफ्लिक्स पर 25 नवंबर को एक ‘खाकी’ द बिहार चैप्टर रिलीज हुई थी. इस वेबसीरीजको लेकर वो एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं.

ये है मामला

बता दें कि अमित लोढ़ा पर निजी स्वार्थ के लिए वित्तीय अनियमितता का भी आरोप था. मामले की जांच हुई. एसवीयू के अनुसार, पुलिस मुख्यालय और वरीय प्राधिकार की तरफ से समीक्षा की गई थी. इसके बाद निगरानी विभाग से मिले आदेश के बाद अमित लोढ़ा के खिलाफ सात दिसंबर को प्रिवेंशन ऑफ करप्शन और आईपीसी एक्ट की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई.