कलश यात्रा में शामिल चाचा-भतीजा सरयू में डूबे, भतीजा की मौत

0

गोताखोरों की मदद से लापता युवक की तलाश में खबर प्रेषण तक रही जारी

दोनों एक ही परिवार के चाचा भतीजा, नौवीं का छात्र था मृतक

परवेज़ अख्तर/दरौली (सिवान):- रूद्र महायज्ञ के लिए निकाली गई कलश यात्रा में शामिल चाचा-भतीजा शुक्रवार को नदी में नहाने के दौरान डूब गए। जिसमें एक युवक की मौत हो गई जबकि दूसरे युवक की तलाश में गोताखोर खबर प्रेषण तक नदी में तलाशी जारी रखे थे। इधर दो युवकों की नदी में डूबने की सूचना मिलते ही अफरा-तफरी मच गई। काफी संख्या में लोग सरयू नदी तट पर पहुंच गए। वहीं स्थानीय प्रशासन एवं जनप्रतिनिधि भी पहुंचकर डूबे दोनों युवकों की तलाश में लगे गोताखोरों की मदद में लग गए। करीब आधे घंटे के बाद डूबे दोनों युवकों में से एक युवक राजू राम (17 वर्ष) का शव मिल गया, जिसे इलाज के लिए तुरंत पीएचसी ले जाया गया, जहां पर चिकित्सक ने युवक को मृत घोषित कर दिया। वहीं डूबे दूसरे युवक विदेशी राम(20वर्ष) को गोताखोरों की मदद से ढूंढने का काम जारी था। दोनों युवक थाना मुख्यालय दरौली के एक ही परिवार के वीरेंद्र राम का पुत्र विदेशी राम (20) व महेश राम का पुत्र राजू राम (17) बताए जाते हैं। दोनों आपस में चाचा-भतीजा बताए जा रहे हैं। गौरतलब है कि प्रखंड क्षेत्र के परमानंदपुर गांव से शुक्रवार को रुद्र महायज्ञ के लिए निकली कलश शोभा यात्रा जब दरौली पहुंची तो दोनों युवक शामिल हो गए और सरयूनदी तट के पंचमंदिर घाट पर नहाने लगे। उसी दरम्यान दोनों गहरे पानी में चले गए और डूब गए। डूबने की जानकारी जब परिजन को हुई तो सरयू नदी तट पर पहुंच दहाड़ मार कर रोने लगे, जिससे सरयू नदी तट पर गमगीन माहौल हो गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

शुक्रवार को नदी में नहाने के क्रम में डूबने से राजू राम की हुई मौत से परिजनों में गम का पहाड़ टूट गया। तीन भाई एवं दो बहन में सबसे बड़ा राजू जैन उच्च विद्यालय में नौवीं कक्षा का छात्र था। घटना के समय केवल भाई एवं बहन घर पर हैं, जबकि मृतक राजू के पिता मुंबई में प्राइवेट नौकरी करते हैं। वहीं मां अपने मायके गई हुई हैं। नदी में लपाता युवक विदेशी चार भाई एवं एक बहन में सबसे बड़ा है।वह बीए प्रथम वर्ष का छात्र था। लगातार युवक विदेशी राम के वीरेंद्र राम प्राइवेट गाड़ी का चलाने का काम करते हैं जबकि मां बीमारी से ग्रस्त है और चलने-फिरने में असमर्थ है और बिस्तर पर पड़ी हुई है। परिवार में सबसे बड़े दोनों युवकों की नदी में डूब जाने से परिवार के सभी लोग बदहवास हैं। चारों तरफ रोने-चिखने की आवाज से पूरा वातावरण गमगीन हो गया है।

प्रशासन पर लापरवाही बरतने का आरोप

प्रशासन की लापरवाही से यह घटना हुई। उक्त बातें दरौली पंचायत के मुखिया लाल बहादुर भगत ने कही। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रशासन की रुद्र महायज्ञ के लिए कलश शोभा यात्रा जब प्रशासन को जानकारी थी तो जल भरने के दौरान घाट पर प्रशासन द्वारा नाव एवं नाविक की क्यों नहीं व्यवस्था की गई । उन्होंने यह भी कहा कि नदी में डूबे राजू राम के परिजनों का प्रशासन आपदा विभाग से चार लाख रुपये का मुआवजा पहले दे तब पोस्टमार्टम कराया जाएगा। जबतक चेक नहीं मिलेगा तब तक पोस्टमार्टम नहीं कराया जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि दो वर्ष पहले सरयू नदी में नाव हादसे में भरटोलिया गांव के चार लोगों के डूब जाने एवं गत वर्ष केवटलिया सरयू नदी तट पर टड़वा गांव के डूबे दो युवक में से मात्र अभी एक का आपदा प्रबंधन विभाग से चार लाख रुपये का चेक मिला है, बाकी पांच लोगों को अब तक कुछ नहीं मिला है। प्रशासन आश्वासन देकर मात्र कोरम पूरा कर लेती है।

[sg_popup id=”5″ event=”onload”][/sg_popup]