चांडी बाजार:- लोगों को उद्यमी बनाकर ऋण और सभी संसाधन मुहैया कराया जाएगा मुहैया

0

कच्चा माल देकर तैयार माल भी खरीदेंगे, सरकार की बेहद भरोसेमंद योजना

परवेज़ अख्तर/सिवान:
लोगों को उद्यमी बनाने की योजना की शुरूआत गुरूवार को जिले के बड़हरिया प्रखंड के सिकंदरपुर पंचायत से हुई। यहां के चांडी बाजार में आज युवाओं को प्रशिक्षण दिया गया। सत्यप्रकाश तिवारी ने कहा कि हम प्रशिक्षण के बाद कच्चा माल देंगे और तैयार माल खरीदेंगे भी। इस प्रकार युवा उद्यमी बनेंगे और दूसरों को रोजगार देंगे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

दरअसल, चांडी बाजार में इलेक्ट्रॉनिक्स क्लस्टर की स्थापना के क्रम में आज लोन मेला सह एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।इसका उद्देश्य युवाओं को प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध कराना है। इस इलाके से ही सफल उद्यमी बनाने और स्वरोजगार के लिए अवसर प्रदान किए जाएंगे। सरकारी योजना के तहत उन्हें ऋण मुहैया कराना, टेंडर मार्केटिंग, मुद्रालोन आदि सुविधाओं के संबंध में जानकारी दी जाएगी। राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड, भारत सरकार के डिप्टी मैनेजर आदित्य नारायण सिंह ने बताया कि एनएसआइसी लघु उद्योग के लिए सेवा प्रदान करता है।

yojna

इसके अंतर्गत मशीनरीए मैटेरियल्सए मार्केटिंग की सेवा साथ ही अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, सभी जाति की महिला उद्यमी, पिछड़ी जाति एवं सामान्य वर्ग के व्यक्तियों  के लिए भी बहुत सी योजनाएं उपलब्ध है। राष्ट्रीय लघु उधोग निगम के कंसलटेंट अरुण प्रकाश कुमार ने बताया है कि उद्योग शुरू करने से पहले लोगों को कई समस्याओं से गुजरना पड़ता है। जैसे कि प्रोजेक्ट बनाने में बहुत सी परेशानी का सामना करना पड़ता है। हम इन समस्याओं से बचने के लिए ऑनलाइन डेटा बैंक की सुविधा प्रदान करते हैं, जिसके माध्यम से उद्यमी आसानी से प्रोजेक्ट हमारे द्वारा प्राप्त कर सकते हैं।

जिला उद्योगकेंद्र सिवान से अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत रोजगारपरक योजनाओं को सुगमता पूर्वक उधमी को प्रदान किया जाएगा। इलेक्ट्रानिक्स कंपनी इलेक्स्ट्रोसेज एलएलपी जो क्षेत्र में स्थापित होने वाली उद्योगों को जॉब वर्क उपलब्ध कराएगी के रेपरजेंटेटिव सत्य प्रकाश तिवारी ने बताया कि चयनित आवेदकों को कंपनी द्वारा जॉब वर्क से संबंधित निःशुल्क सात दिवसीय प्रशिक्षण प्रदान कराया जायेगा ।

तत्पश्चात आवेदकों को रॉ मैटेरियल कम्पनी से खरीदना पड़ेगा।जिसकी असेम्बलिंग करने के बाद कम्पनी द्वारा ही असेम्बल्ड प्रोडक्ट खरीद लिया जायेगा। इस प्रकार स्वरोजगारियों को न तो कच्चे माल को खरीदना पड़ेगा और न ही उसे बेचने के लिये किसी बाजार की खोज करनी पड़ेगी। इस अवसर पर सज्जन कुमार पालए मैनेजर एनएसआई सी पटनाए संजय कुमार सिंहए जिला उधोग विभाग सिवान अरुण प्रकाश कुमार,  कंसलटेंट एनएसआईसी पटना, प्रोफेसर बिरेन्द्र प्रसाद यादव, निदेशक अर्जुन कुमार, शशिकांत कुमार, परवीन कुमार, मेराज अहमद, नितेश, सत्येंद्र कुमार एवं सैकड़ों की संख्या में छात्र7छात्राएं उपस्थित थे।