नीतीश को हराने चले चिराग अपने भाई को भी नहीं जीता पाए…हनुमान के गदा में दम नहीं…

0

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव 2020 का रिजल्ट आज आ रहा है। ऐसे में एनडीए गठबंधन और महागठबंधन के बीच करारे की टक्कर दिख रही है तो कई ऐसे दिग्गज नेता चुनावी मैदान में हार चुके हैं| जिनको लेकर तरह-तरह के वादे किए जा रहे थे |जी हां हम बात कर रहे हैं लोक जनशक्ति पार्टी के सुप्रीमो चिराग पासवान के भाई कृष्णा राज की जो रोसरा विधानसभा क्षेत्र से चुनावी मैदान में थे और बीजेपी के नेता वीरेंद्र कुमार से बुरी तरह चुनाव हार गए। वहीं दूसरी तरफ नीतीश कुमार को हराने निकले चिराग पासवान खुद अपने भाई को भी नहीं जीता पाए। अपने आपको मोदी के हनुमान कहने वाले चिराग पासवान के गदा में इतना दम ही नहीं था या फिर बीजेपी नेताओं के द्वारा यह कहा गया था कि वह प्लास्टिक का गदा लेकर घूम रहे हैं यही सही साबित हो रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

बताते चलें कि रोसरा विधानसभा क्षेत्र से लोक जनशक्ति पार्टी के उम्मीदवार कृष्णा राज जो चिराग पासवान के भाई लगते हैं वह मैदान में थे तो दूसरी तरफ बीजेपी से वीरेंद्र कुमार चुनावी मैदान में थे वहीं कांग्रेस से नागेंद्र कुमार विकल चुनावी मैदान में थे। रोसरा विधानसभा क्षेत्र के चुनावी टक्कर में वीरेंद्र कुमार और नागेंद्र कुमार ही दिखे तीसरे नंबर पर कृष्णा राज नजर आए। हालांकि कृष्णा राज को जिताने के लिए चिराग पासवान ने जी तोड़ मेहनत की थी पर उनका जादू जनता के दिलों पर नहीं चला।

बताते चलें कि खुद को मोदी का हनुमान बताने वाले चिराग पासवान ने इस बार नीतीश कुमार को हराने के लिए खुलकर विरोध किया और जदयू के सामने अपने प्रत्याशी को उतारते हुए कड़ी चुनौती दी थी ।लेकिन चिराग जिस तरह हुआ प्लास्टिक के गदा लेकर चुनावी मैदान में उतरे थे उसी तरह उनके प्रत्याशी भी चुनावी मैदान में टाय टाय फिश हो गए।