महाराजगंज नगर पंचायत अध्यक्ष व कार्यपालक पदाधिकारी में झड़प

0
marpit (5)

परवेज़ अख्तर/सिवान:- महाराजगंज  नगर पंचायत कार्यालय में शुक्रवार को नगर कार्यपालक पदाधिकारी अरविद कुमार सिंह और नगर पंचायत अध्यक्ष मंजू देवी के बीच कुव्यवस्था को लेकर तीखी बहस होने लगी। बहस झड़प में तब्दील हो गई। दोनों पक्ष से थाने में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए आवेदन दिया गया। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा वीडियो कॉफ्रेसिग के माध्यम से नगर पंचायत में नल जल योजना के उद्घाटन का कार्यक्रम चल रहा था। नगर पंचायत अध्यक्ष मंजू देवी पहुंचीं और बैठने की व्यवस्था देख नाराज होकर अपने कार्यालय कक्ष में चली गईं। इस बीच नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी अरविद कुमार सिंह कार्यक्रम स्थल का मुआयना करने के लिए कार्यालय से चले गए। निरीक्षण के बाद पुन: जब कार्यपालक पदाधिकारी कार्यालय पहुंचे तो मुख्य पार्षद मंजू देवी के देवर से कुव्यवस्था को लेकर कहासुनी होने लगी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

बात कहासुनी से झड़प में तब्दील हो गई। जिसमें कार्यालय के बड़ाबाबू मनु सिंह व उनके देवर के बीच झड़प होने लगी। इस संबंध में दोनों पक्ष ने महाराजगंज थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए आवेदन दिया है। नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी ने अपने दिए आवेदन में कहा है कि नगर पंचायत के छह वार्डों में नल जल योजना के उद्घाटन का कार्यक्रम निर्धारित था। नगर पंचायत के सभाकक्ष में उद्घाटन कार्यक्रम की वीडियो कांफ्रेंसिग का लाइव प्रसारण चल रहा था। इस कार्यक्रम में मुख्य पार्षद, उप मुख्य पार्षद एवं सभी वार्ड पार्षद प्रसारण देखने के लिए आमंत्रित किए गए थे। कार्यक्रम के दौरान नगर पंचायत अध्यक्ष एवं उनके परिजन, वार्ड संख्या 13 के सलीम आलम, वार्ड संख्या 14 के वार्ड पार्षद के चचेरे भाई सभी लोग कार्यालय में लाठी-डंडे व बंदूक के साथ पहुंचे।

मैं अन्य वार्डों के कार्यक्रम का निरीक्षण करके कार्यालय पहुंचा तो ये लोग गाली गलौच करने लगे एवं मेरे साथ व प्रधान लिपिक के साथ हाथापाई व मारपीट की। साथ ही जान से मारने की धमकी देने लगे। कार्यालय की गुप्त संचिका व कागजात को चुराने का प्रयास किया जाता है। झड़प में प्रधान लिपिक प्रत्यूष कुमार गौतम का मोबाइल भी छीन लिया गया है।वहीं नगर पंचायत अध्यक्ष मंजू देवी ने आवेदन में कहा है कि सात निश्चय योजना कार्यक्रम की वीडियो कांफ्रेंसिग के समय सभागार में पहुंचीं तो बैठने की कोई व्यवस्था नहीं थी।

जब मैंने ईओ अरविद कुमार सिंह से पूछा कि आप मुझे बिना बताए अकेले उद्घाटन का कार्यक्रम क्यों किए तो उन्होंने कहा कि आप से मुझे सलाह लेने की कोई जरूरत नहीं है। आपसे पूछकर मुझे कोई काम नहीं करना है। इसपर अध्यक्ष ने कहा कि मेरा दायित्व है। इसी बात पर ईओ व प्रधान सहायक मनु द्वारा मेरे साथ बदतमीजी की गई। हाथ पकड़कर धक्का देकर गिरा दिया गया। तब मैंने फोन कर अपने स्वजनों को सूचित किया। इस संबंध में थानाध्यक्ष दयानंद सिंह ने बताया कि नगर अध्यक्ष मंजू देवी एवं ईओ अरविद कुमार सिंह ने थाने में आवेदन दिया है। दोनों आवेदनों की जांच कर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।