मिशन परिवार विकास अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर चार प्रखंडों में अभिसरण समिति की बैठक

0
  • प्रखंड विकास पदाधिकारी की अध्यक्षता में हुई बैठक
  • शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करने का दिया निर्देश
  • अभियान को सफल बनाने में अंर्तविभागीय समन्वय जरूरी

गोपालगंज : जिले में मिशन परिवार विकास अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर चार प्रखंडों में प्रखंड विकास पदाधिकारियों की अध्यक्षता में अभिसरण समिति की बैठक आयोजित की गयी। जिले के पंचदेवरी, फुलवरिया, भोरे और कुचायकोट में परिवार नियोजन अभिसरण समिति की बैठक की गयी। जिसमें मिशन परिवार विकास के सफल क्रियान्वयन को लेकर चर्चा की गयी। शत-प्रतिशत लक्षय की प्राप्ति के लिए अंर्तविभागीय समन्वय स्थापित कर कार्य करने के लिए निर्देश दिया गया। पंचदेवरी में प्रखंड विकास पदाधिकारी मनीष कुमार श्रीवास्तव, भोरे में प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉ. संजय कुमार के अध्यक्षता में बैठक की गयी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

baithak

बैठक में केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक अमित कुमार ने बताया कि गोपालगंज जिला का प्रजनन दर 3.5 है जो राज्य के प्रजनन दर 3 से भी अधिक है। प्रजनन दर एवं जनसंख्या वृद्धि में कमी लाने के लिए मिशन परिवार विकास अभियान चलाया जा रहा है। मिशन परिवार विकास को सफल बनाने में सभी विभागों का आपसी समन्वय होना आवश्यक है। बैठक में पंचदेवरी के चिकित्सा पदाधिकारी बीपुल कुमार श्रीवास्तव, बीएचएम रोहित कुमार, केयर बीएम अभिनित कुमार, डीटीओ-एफ अमरेंद्र तिवारी, भोरे के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी खाबर इमाम, बीसीएम मंजय कुमार, परिवार नियोजन सलाहाकार उमेश प्रसाद, बीएम समीर कुमार मिश्रा, महिला सुपरवाइजर व विकास मित्र शामिल थे। ( इसे सबसे अंतिम में लिख लो)

parivar niyojan

बैठक के दौरान किया गया उन्मुखीकरण

समन्वय बैठक दौरान शिक्षक, आंगनबाड़ी सेविका, जीविका दीदी, पंचायती राज सदस्य एवं विकास मित्र का उन्मुखीकरण किया गया। ताकि अभियान के दौरान इच्छुक दंपतियों को परिवार नियोजन के स्थाई एवं अस्थाई उपायों को अपनाने के लिए प्रेरित कर सके।

दो चरणों में पूरा होगा मिशन परिवार विकास अभियान

सभी स्वास्थ्य संस्थानों के प्रभारी 14 से 20 जनवरी तक दम्पती संपर्क सप्ताह का आयोजन किया जायेगा करेंगे। आमजन में जागरूकता लाने के लिए सही उम्र में शादी, शादी के कम से कम दो साल के बाद पहला बच्चा, दो बच्चों में कम से कम तीन साल का अंतर, प्रसव पश्चात या गर्भपात पश्चात परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधान एवं परिवार कल्याण ऑपरेशन में पुरुषों की भागीदारी पर अधिक बल दिया जाएगा। साथ ही इस दौरान परिवार कल्याण कार्यक्रम अन्तर्गत उपलब्ध अस्थायी एवं स्थायी उपायों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। 21 से 31 जनवरी तक परिवार नियोजन सेवा सप्ताह का चलेगा।

सास बहु बहू सम्मेलन का होगा आयोजन

केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक अमित कुमार ने बताया परिवार नियोजन पर अलख जगाने की नई पहल की गयी है। सास-बहू एवं बेटी के माध्यम से परिवार नियोजन पर जागरूकता फैलाई जा जाएगी। मिशन परिवार विकास अभियान के दौरान सास-बहू व बेटी सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। सम्मेलन के कुशल क्रियान्वयन की जिम्मेदारी एएनएम को सौंपी गई है।

इन बिन्दुओं पर किया जायेगा जागरूक

  • विवाह के सही उम्र, लड़के के 21 एंव लड़की की 18 वर्ष
  • शादी के बाद कम से कम दो वर्ष बाद पहला बच्चा
  • पहले एंव दूसरे बच्चे में कम से कम तीन साल का अंतराल
  • छोटा परिवार एंव समिति परिवार के लाभ
  • परिवार नियोजन के स्थाई एंव अस्थाई साधन के बारे में जानकारी

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here