कोरोना कहर: गुठनी में कोरोना संक्रमण से अधेड़ की मौत, ऑक्सीजन के अभाव में महिला ने दम तोड़ा

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के गुठनी स्थानीय थाना क्षेत्र के ग्यासपुर गांव निवासी केदार मांझी की मौत शनि-रविवार की मध्य रात्रि कोरोना संक्रमण से कोविड अस्पताल मजराजगंज में हो गयी. वहीं ऑक्सीजन के आभाव में कोरोना लक्षण की एक महिला मरीज गुठनी पीएचसी में रविवार दोपहर दम तोड़ दी. महिला मैरवा के प्रसिद्ध व्यवसायी हरिविलास जायसवाल की पत्नी शारदा देवी (58) है. इनके ही नाम पर गुठनी के तेनुआ मोड़ पर शारदा चित्र मंदिर है. जिसमें पूर्व में सिनेमा हाल तथा वर्तमान में इनका ही बजाज बाइक का एजेंसी चल रहा है. शारदा देवी को पहले से कुछ बीमारियां थी और रविवार को अचानक सांस लेने में कठिनायी आने लगी तो ये लोग गुठनी पीएचसी में लेकर गये और चिकित्सक से तुरंत ईलाज करने व आक्सीजन लगाने की मांग की.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

अस्पताल की लापरवाही के कारण आक्सीजन लगाने में काफी विलंब हो गया औऱ जबतक आक्सीजन लगाया गया काफी देर हो चुका था. 10 मिनट बाद ही मौत हो गयी. परिजनों का आरोप था कि समय से आक्सीजन लगाया गया होता तो हायर सेंटर में ले जाने का मौका मिल गया होता, जान बच जाती. वही ग्यासपुर के केदार मांझी के सम्बंध में परिजनों ने बताया तीन दिन पहले बुखार खांसी हुआ और बढ़ता ही गया. जिसके बाद सीवान सदर अस्पताल में शनिवार को भर्ती कराया गया. सदर के चिकित्सकों ने कोविड मरीज होने का हवाला देकर कोविड अस्पताल महराजगंज में रेफर कर दिया. जहां ईलाज के क्रम में मौत हो गयी. परिजनों ने शव को अस्पताल से लाकर ग्यासपुर स्थित पवित्र सरयू तट पर अंतिम संस्कार कर दिया. गुठनी में कोविड से तीन दिन में ये तीसरी मौत है. हालांकि शारदा देवी का कोविड टेस्ट नहीं हुआ था, मगर लक्षण सारे कोविड के थे और ऑक्सीजन के आभाव ने उनकी जान ले ली.