कोरोना कहर: सिवान में एक दिन में कोरोना से सात की मौत

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले में कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में आने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। प्रतिदिन संक्रमण के कारण जान गंवाने वालों की संख्या में बढ़ोतरी देखी जा रही है। गुरुवार को भी सात लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हो गई। पिछले दो दिनों में जिले में 19 लोगों ने कोरोना की जंग में अपने हथियार डाल दिए। यह तो सरकारी आंकड़े हैं लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में भी कई जगहों से कोरोना के कारण लोगों की मौत की सूचनाएं आती रहीं जिनकी पुष्टि सरकारी स्तर से नहीं की गई। गुरुवार को कोरोना से हुई जिन सात लोगों की मौत हुई उसमें दो महिलाएं भी शामिल हैं। अब जिले में कोरोना की चपेट में आने वाले मृतकों की संख्या बढ़कर 90 पहुंच गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जानकारी के अनुसार महाराजगंज अनुमंडलीय अस्पताल स्थित डेडिकेटेड कोविड सेंटर में गुरुवार को चार लोगों की मौत हो गई। जबकि तीन लोगों की मौत सदर अस्पताल में इलाज के क्रम में हो गई है। सदर अस्पताल के प्रबंधक एसरारुल हक ने बताया कि आइसीयू वार्ड में इलाजरत तीन कोविड मरीज की मौत हो गई। वहीं महाराजगंज अनुमंडलीय अस्पताल के प्रबंधक देवेंद्र सिंह बघेल ने बताया कि जिन चार लोगों की मौत कोविड से हुई है, उनमें पचरुखी प्रखंड के पिपरा पंचायत के मुखिया, हसनपुरा प्रखंड के बसंतनगर निवासी 27 वर्षीय युवक तथा अन्य दो महिला मरीज शामिल हैं।

ट्रूनेट जांच में 20 की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार 300 नए मरीजों के साथ जिले में संक्रमितों की संख्या 8679 हो गई है। इनमें से 2549 सक्रिय मामले है। वहीं कोरोना से अबतक 90 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि अबतक कुल 6040 संक्रमित मरीज कोरोना को मात देकर पूरी तरह से स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार आंदर में 21, बसंतपुर व रघुनाथपुर में 28-28, बड़हरिया में 23, पचरुखी में 24, गुठनी में 3, गोरेयाकोठी में 9, नौतन, सिसवन, सदर प्रखंड, सिवान जंक्शन व दरौली में एक-एक, हसनपुरा में 10, हुसैनगंज, दारौंदा व मैरवा में आठ-आठ, पीएचसी महाराजगंज में 16, एसडीएच महाराजगंज में सात, भगवानपुर हाट में 44, लकड़ी नबीगंज में पांच, सदर अस्पताल में 30 तथा जीरादेई प्रखंड में तीन पॉजिटिव मरीज की पुष्टि हुई है। विभिन्न जगहों पर विशेष शिविर लगाकर सैंपल एकत्रित कर उनकी जांच की गई। इसमें ट्रू नेट द्वारा 147 तथा रैपिड एंटीजन किट द्वारा 1613 सैंपलों की जांच की गई। इस क्रम में ट्रूनेट से जांच में 20 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। जबकि 324 सैंपल एकत्रित कर आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए पटना भेज दिया गया।