कोविन सॉफ्टवेयर से होगी कोविड-19 वैक्सीनेशन की निगरानी

0
  • लाभार्थियों को एसएमएस के माध्यम से दी जायेगी सूचना
  • टीका लगवाने के लिए करना होगा रजिस्ट्रेशन
  • को-विन एप में पांच मॉड्यूल होंगे
  • पोर्टल के माध्यम से पंजीकृत लाभार्थी को मिलेगा लाभ

गोपालगंज: वैश्विक महामारी कोविड से बचाव को लेकर टीकाकरण का कार्य किया जाना है। इसके लिए विभाग में जोर-शोर से तैयारियां चल रहीं हैं। टीकाकरण की निगरानी के लिए कोविन (कोरोना वैक्सीन इंटेलीजेंस नेटवर्क) पोर्टल लांच किया गया है, जिसके माध्यम से लाभार्थी को एसएमएस के द्वारा सूचना मिल जाएगी कि किस दिन किस स्थान पर टीका लगेगा। इसके लिए पोर्टल पर डाटा फीडिंग किया जायेगा। इसपर टीकाकरण की पूरी जानकारी दी जाएगी। पहले चरण के लिए फ्रंटलाइन वकर्स के आंकड़े जुटाए जा रहे हैं। उनका एप पर रजिस्‍ट्रेशन कराया जाएगा। टीका चाहने वाला व्यक्ति इसपर अपना पंजीकरण करा सकता है। को-विन एप में पांच मॉड्यूल होंगे, जिनमें प्रशासक मॉड्यूल, पंजीकरण मॉड्यूल, टीकाकरण मॉड्यूल, लाभार्थी सूचना प्राप्ति मॉड्यूल तथा रिपोर्ट मॉड्यूल होंगे। प्रशासक मॉड्यूल प्रशासकों के लिए है, जो टीकाकरण सत्र आयोजित करेंगे। पंजीकरण मॉड्यूल टीकाकरण के इच्छुक लोगों के पंजीकरण के लिए है। टीकाकरण मॉड्यूल में लाभार्थी की जानकारी का सत्यापन किया जाएगा। वहीं, लाभार्थी सूचना प्राप्ति मॉड्यूल में लाभार्थी को टीकाकरण के बाद एसएमएस तथा क्यूआर आधारित प्रमाणपत्र भेजा जाएगा। रिपोर्ट मॉड्यूल में यह रिपोर्ट तैयार की जाएगी कि कितने टीकाकरण सत्र आयोजित किए गए और उनमें कितने लोगों ने हिस्सा लिया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

कोरोना वैक्सीन के प्रबंध पर कार्य करेगा पोर्टल

वैक्सीन कोल्ड चेन प्वाइंट पर वैक्सीन के स्टाक की मात्रा एवं भंडारण फ्रिजरियल टाइम तापमान की ऑनलाइन निगरानी ‘को-विन’ (विन ओवर कोविड) प्रोग्राम के अंतर्गत मोबाइल एप एवं बेब पोर्टल से की जाएगी। इसके लिए जिले में प्रत्येक कोल्ड चेन पर रखे आईएलआर में टेंपरेचर लागर नाम की एक सेंसर युक्त डिवाइस स्थापित है। यह डिवाइस नेट के माध्यम से वेब पोर्टल से जुड़ी रहेगी। यह पोर्टल पूरी तरह से कोरोना वैक्सीन के प्रबंध पर कार्य करेगा।

पोर्टल पर रजिस्टर्ड लाभार्थियों को भेजा जायेगा मैसेज

को-विन पोर्टल से वैक्सीन और लॉजिस्टिक, सत्र स्थल, वैक्सीनेटर और लाभार्थी की सूचना मिलेगी। ‘को-विन’ पोर्टल के माध्यम से रजिस्टर्ड लाभार्थी को वैक्सीनेशन की सूचना उनके मोबाइल पर मैसेज के जरिए प्राप्त होगी। उसमें स्थान, समय, दिनांक, सत्र स्थल और कौन वैक्सीनेटर है, इसकी जानकारी शामिल होगी।

समुदाय के आखिरी व्यक्ति तक टीकाकरण का लाभ

पोर्टल के माध्यम से पंजीकृत लाभार्थी को लाभ मिलेगा। यह प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी होगी। इसकी ऑनलाइन मॉनिटरिंग की जाएगी। सत्र स्थल पर बिना मोबाइल फोन पर सूचना, मैसेज के किसी भी व्यक्ति को आने की अनुमति नहीं होगी। सभी नियम कोविड प्रोटोकॉल के तहत प्रभावी होंगे। समुदाय के आखिरी व्यक्ति तक टीकाकरण का लाभ देने का लक्ष्य है, जिसका लाभ क्रमवार दिया जाएगा।