दरौली: अश्लील फोटो वायरल में माले ने किया थाने का घेराव

0
maale

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के दरौली प्रखंड मुख्यालय स्थित केवाईपी में हुए यौनाचार के विरुद्ध पुलिस द्वारा की जा रही खानापूर्ति कार्रवाई के विरोध में माले के ऐपवा द्वारा रविवार को दरौली थाना का घेराव एवं एपवा कार्यकर्ताओं के द्वारा प्रतिवाद मार्च एवं विरोध प्रदर्शन किया गया. भाकपा माले एवं ऐपवा के संयुक्त तत्वाधान में कार्यकर्ताओं ने एक लिखित मांग पत्र प्रभारी थानाध्यक्ष विनोद कुमार एवं अंचलाधिकारी अरविंद कुमार सिंह को दिया गया, लेकिन दोनों पक्षों के शांति पूर्ण बातचीत के दौरान प्रदर्शनकारियों एवं अंचलाधिकारी के बीच आंशिक नोकझोंक के बाद प्रदर्शनकारियों का प्रदर्शन देखते-देखते धरना में बदल गया.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

घेराव में उपस्थित सभी कार्यकर्ता ऐपवा के जिला अध्यक्ष मालती राम एवं राज्य कमेटी सदस्य जिला सचिव सोहिला गुप्ता की अध्यक्षता में थाना के मुख्य द्वार को जाम करते हुए घटना की न्यायिक जांच कराने एवं अंचलाधिकारी द्वारा प्रदर्शनकारियों के साथ दुर्व्यवहार किए जाने के लिए लिखित रूप से अंचलाधिकारी द्वारा माफी मांगने को लेकर थाना परिसर में धरना पर बैठ गए. मालती राम ने अपने संबोधन में कहा कि दरौली कौशल विकास केंद्र में हुए यौनाचार का न्यायिक जांच कराई जाए. लड़कियों का अश्लील फोटो वायरल करने वाले प्रदीप साहनी को यथाशीघ्र गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाए.

स्थानीय पुलिस यदि कुछ खास लोगों के दबाव में आकर इस मामले को किसी भी तरह से दबाती है, या कार्रवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति की जाती है तो एपवा इसका कड़ा विरोध करेगी और हम ऐपवा के महिला कार्यकर्ता स्थानीय स्तर से जिला मुख्यालय तक इसका विरोध तब तक करेंगे जब तक कि प्रशासन द्वारा उचित कार्रवाई न हो. वही ऐपवा की जिला सचिव सह राज्य कमेटी सदस्य सोहीला गुप्ता ने अपने संबोधन में कहा कि दरौली केवाईपी के लड़कियों का वीडियो वायरल होने के इतने दिनों बाद तक करवाई नहीं होना समाज एवं संविधान के लिए निश्चित रूप से शर्मनाक है. हम इसकी घोर निंदा करते हैं.

हम आशा करते हैं कि जब भी हम अपनी बातें शांतिपूर्ण रूप से प्रशासन के समक्ष रखती हैं तो इसका यथाशीघ्र निजात शांतिपूर्ण रूप से ही करने का प्रयास किया जाए अन्यथा हमे धरना प्रदर्शन करने के लिए भी बाध्य होना पड़ेगा, जिसके लिए मुख्य रूप से प्रशासन ही जिम्मेदार है। धरना के दौरान सभा को माले कार्यकर्ता एवं स्थानीय मुखिया लाल बहादुर भगत, मंजीता कौर, कुमारी देवी सहित कई भाकपा माले नेता एवं एपवा के नेताओं ने सभा को संबोधन किया.

थाना परिसर में बैठे प्रदर्शनकारियों के मांग के बाद स्थानीय प्रभारी थानाध्यक्ष विनोद कुमार एवं अंचलाधिकारी अरविंद प्रसाद सिंह के संयुक्त निर्देशन में प्रखंड विकास पदाधिकारी अभिषेक चंदन ने प्रखंड समन्वयक(स्वच्छता)आनंद पांडेय को भेजकर केवाईपी के मुख्य गेट पर अपनी ताला लगाकर केवाईपी में शिक्षण कार्य को तत्काल बंद करवाया, जिसके बाद प्रदर्शनकारियों के द्वारा धरना प्रदर्शन बंद किया गया. प्रदर्शन में युवा कार्यकर्ता सोहीला गुप्ता, मालती राम, रंजीता कौर, कांति देवी, संजू देवी, गायत्री देवी सुनैना देवी, राबड़ी देवी, विमला देवी, सुशीला देवी, संगीता देवी, उषा देवी, गुड्डी देवी, प्रभावती देवी, रानी देवी, प्रभा देवी, शिवकुमारी देवी एवं जानकी देवी जबकि माले नेता लाल बहादुर भगत, मनोज राम और जगजीत शर्मा सहित काफी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया.