बंदी पर चाकू से हमला मामले में जेल अधीक्षक को डीएम की चेतावनी

0
dm ranjita

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के जिलाधिकारी रंजीता मिश्रा ने गुरुवार को दारौंदा प्रखंड के विभिन्न कार्यालय में योजनाओं की फाइलों जांच की। डीएम दारौंदा प्रखंड कार्यालय परिसर में 11 बजे आ गईं। सबसे पहले प्रखंड कार्यालय पहुंच कर विभिन्न योजनाओं की फाइलें मांगी। इस दौरान लॉक बुक, चेक बुक, कैश बुक, पेंशन, प्रधानमंत्री आवास योजना आदि का अभिलेखों की सघन जांच की। प्रखंड नाजिर की मृत्यु हो जाने के चलते कैशबुक फरवरी 2018 तक ही अप टू-डेट नहीं रहने के चलते फटकार लगाई। डीएम ने एक सप्ताह के अंदर कैश बुक अप-टू-डेट करने का निर्देश दारौंदा बीडीओ रीता कुमारी को दिया। प्रखंड आइटी मैनेजर को मैसेज एवं मेल अप टू डेट नहीं रहने पर उन पर स्पष्टीकरण किया। इसके बाद 12.45 बजे डीएम ने अंचल कार्यालय का निरीक्षण किया जहां राजस्व वसूली, दाखिल खारिज आदि अभिलेखों की जांच की। नवनिर्माण अभिलेखागार भवन में अंचल कार्यालय शिफ्ट करने का निर्देश सीओ अशोक कुमार चौधरी को दी। यहां दाखिल खारिज में लापरवाही को ले डीएम ने सीओ से शोकॉज किया है। इसके बाद 1.30 बजे डीएम ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गई जहां आॅपरेशन थियेटर, ओपीडी, दवा भंडार, मरीजों की उपस्थिति, स्वास्थ्य कर्मियों की उपस्थिति पंजी, मरीजों की सुविधाएं आदि की भौतिक जांच की। अस्पताल में चल रहे योजनाओं के अभिलेख पंजी की जांच की। आरसीएच का बढ़ावा देने का आवश्यक दिशानिर्देश दिया गया। अस्पताल के आगे मुख्य प्रवेश द्वार पर आशा कार्यकर्ताओं ने डीएम से अपनी मानदेय बढ़ाने के लिए आवेदन दिया। डीएम ने आश्वासन दिया कि आप लोगों की मांग को आगे भेज देंगे। इसके बाद फिर दो बजे बीडीओ कार्यालय पुनः आकर कुछ दिव्यांग, कुछ वृद्ध महिलाओं से मिलकर उनकी समस्याओं को विभिन्न पदाधिकारी को जांच करने का आदेश दे दिया। इसके बाद प्रखंड प्रमुख बेबी सिंह के नेतृत्व में बीडीसी सदस्यों ने पंचायत सचिवों के खिलाफ डीएम को आवेदन दिया, जिसमें कहा कि बीडीसी मद से होने वाले कार्य पंचायत सचिवों के चलते बाधित है। जिस पर डीएम ने बीडीओ को कहा कि सभी पंचायत सचिवों को कार्य करने को कहें, अगर कार्य नहीं करते हैं तो पंचायत सचिव के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करें। प्रखंड प्रमुख बेबी सिंह ने एमओ दारौंदा कार्यालय में तीन दिन रहना सुनिश्चित करने की मांग की, जिस पर डीएम ने कहा कि एमओ तीन दिन दारौंदा और तीन दिन महाराजगंज रहने का दिन एसडीओ को तय करने को कहा। स्वच्छता अभियान की प्रोत्साहन राशि खाते में नहीं भेजेने की शिकायत लाभुकों ने डीएम को आवेदन देकर किया। इसके अलावा शिक्षा विभाग के कार्यालय में डीसीएलआर मधुसूदन कुमार, मनेरगा कार्यालय की अभिलेखों की जांच एसडीओ मंजीत कुमार, आरटीपीएस का निरीक्षण महाराजगंज एसडीओ मंजीत कुमार, डीएसएओ ने जनवितरण प्रणाली की जांच की। इस दौरान डीडीसी विदुभूषण चौधरी, महाराजगंज एसडीओ मंजीत कुमार, बीडीओ रीता कुमारी, सीओ अशोक कुमार चौधरी, सीडीपीओ सरस्वती देवी, एमओ रवि कुमार, बीईओ अजय कुमार आदि सभी पदाधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।[sg_popup id=”5″ event=”onload”][/sg_popup]

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal