बारिश में भीग कर श्रद्धालुओं ने किया जलाभिषेक

0
shiv ji

परवेज अख्तर/सिवान:- सावन मास की दूसरी सोमवार के मौके पर सुबह में जिले में कई प्रखंडों में जमकर मेघ बरसे, बारिश में भींग कर जलाभिषेक करने का उमंग देखते बन रहा था। जितनी तेज बारिश हो रही थी उतनी ही ज्यादा संख्या में भक्त शिवालयों का रुख कर रहे थे। बाबा के जलाभिषेक को मंदिर के बाहर खड़े कतारबद्ध भक्तों ने बारिश में भींग कर जलाभिषेक किया और इस दौरान सबने एक स्वर में जय शिव-बोल-बम, हर-हर-महादेव के नारे लगाए। वहीं सोमवार को महिला भक्तों की भक्ति भी देखते बन रही थी। श्रद्धालु सोमवार की अल सुबह पूजा सामग्री के साथ शिवालयों में पहुंच गए तथा भगवान शिव की श्रद्धा, भक्ति के साथ जलाभिषेक तथा पूजा अर्चना कर सुखमय जीवन की कामना की। शिवालयों में भगवान शिव की पूजा के साथ अन्य देवी-देवताओं की भी पूजा-अर्चना की गई। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती गई। श्रद्धालुओं की भीड़ अधिक होने के लिए श्रद्धालुओं को कतार में खड़ी होकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा।वहीं श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर समिति के सदस्य तथा पुलिस के जवान सक्रिय दिखे। वे श्रद्धालुओं को कतार में खड़ा कराने और जलाभिषेक कराने में सहयोग करते हुए देखे गए। जलाभिषेक के बाद कई श्रद्धालु उपवास रहकर भगवान शिव की आराधना किए। इस मौके पर अधिकांशत: महिलाएं हरे परिधान में तो पुरुष केसरिया रंग में दिखाई दे रहे थे। शहर के शिवालयों में सुबह से ही बजने लगे थे घंटा शहर के महादेवा पंचमुखी शिव मंदिर, फतेहपुर, मखदुम सराय, पंचमंदिरा, सहित विभिन्न छोटे-बड़े शिवालयों में सुबह से ही भक्तों का तांता जलाभिषेक को लगा हुआ था। मंदिर के घंटे बार बार बज रहे थे जो यह संकेत दे रहे थे कि बाबा को आनंद करने के लिए उनके भक्त उनके पास पहुंच चुके हैं। इस कारण मंदिरों के आसपास हर-हर महादेव, बोल बम, जय शिव एवं ऊं नम: शिवाय के उद्घोष से गूंज उठा। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए पूजा समिति के सदस्य सक्रिय रहे। शांति व्यवस्था में महादेवा ओपी की पुलिस भी सक्रिय दिखी। महादेवा शिव मंदिर के पुजारी आचार्य वीरेंद्र पांडेय ने बताया कि दोपहर एक बजे तक करीब 20 हजार से अधिक श्रद्धालु जलाभिषेक कर चुके थे।bhol bam इसके अलावा डाकबंगला रोड, कचहरी रोड, फतेहपुर, मखदुम सराय, ठाकुरबारी, श्रीनगर, स्टेशन रोड, सलेमपुर, शुक्ल टोली के अलावा कई ग्रामीण इलाकों में भी श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया। सिसवन के मेहंदार, गुठनी के सोहागरा धाम, चकरी, जीरादेई के अकोल्ही स्थित अनंतधाम में कांवरिया सरयू नदी से जल भरकर पहुंच जलाभिषेक किए। शिव मंदिरों में जलाभिषेक को अनुमंडल में भी लगी रही होड़ महाराजगंज में शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के शिव मंदिरों में जलाभिषेक किया गया।शहर के सिहौता स्थित रामेश्वरम धाम, नागाजी का मठ,पश्चिमारी मठ, इंदौली मठ, नया बाजार मठ, शिवदह, महुआरी, पटेढी, जिगरहंवा मंदिरों में श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया। दारौंदा प्रखंड मुख्यालय समेत उज्जांय, रुकुंदीपुर, सतजोड़ा,भीखाबांध, तरवारा, दीनदयालपुर, पिपरा नारायण स्थित लालेश्वर नाथ शिवमंदिर, सहलौर, पचरुखी, बसंतपुर में लाल बाबा शिव मंदिर, शहरकोला, मुड़ा, श्यामपुर, भगवानपुर, सोंधानी, ब्रह्मस्थान, सारीपट्टी, खैरवा,मलमलिया, माघर, चोरौली, लकड़ी नबीगंज, पड़ौली, मदारपुर, डुमरा,बड़हरिया, हरदिया, बहादुरपुर, भदाय, तेतहली, सुंदरी,सुंदरपुर, लकड़ी दरगाह, कैलगढ़, पुरैना, गोरेयाकोठी, शेखपुरा, पिपरा,करपलिया, हसनपुरा, रजनपुरा, चांद परसा, गायघाट, पतार, आंदर,रघुनाथपुर जमनपुरा, हैबतपुर, तेलकथु, नौतन, दरौली, मैरवा, कविता, हुसैनगंज, बड़रम समेत अन्य शिवालयों में श्रद्धालुओं ने भगवान शिव को जलाभिषेक कर मन्नतें मांगी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

श्रद्धालुओं की मदद के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम

शिवालयों में श्रद्धालुओं की पूजा-अर्चना में कोई परेशान न हो इसके लिए मंदिर पूजा समिति तथा पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। मंदिर परिसर में पुलिस द्वारा शरारती तत्वों तथा पॉकेटमारों पर नजर रखी जा रही थी।