नीतीश सरकार ने दिया शिक्षकों को खतरनाक टास्क….शराबियों व शराब माफियाओं की पहचान कर दें सूचना…..

0

पटना: बिहार के सरकारी शिक्षक अब शराब पीने वाले या पिलाने वालों की पहचान करेंगे और इसकी सूचना देंगे. सरकार ने यह नई जिम्मेदारी दी है। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने इस संबंध में सभी क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक, जिला शिक्षा पदाधिकारी और जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों को पत्र लिखकर नशामुक्ति अभियान को सफल बनाने को कहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

शिक्षा विभाग के पत्र में कहा गया है कि ऐसी सूचना लगातार मिल रही है कि अभी भी कुछ लोग चोरी-छुपे शराब का सेवन कर रहे हैं. इसका दुष्परिणाम शराब पीने वाले और उनके परिवार पर पड़ रहा है. ऐसे में इसे रोकना अति आवश्यक है. इस संबंध में निर्देश दिया जाता है कि प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों में शिक्षा समिति की बैठक बुलाकर नशा मुक्ति के संदर्भ में आवश्यक जानकारी दें .साथ ही प्राथमिक,मध्य विद्यालय उच्च माध्यमिक विद्यालय के सभी प्रधानाध्यापक, शिक्षक, शिक्षा सेवक, तालिमी मरकज के साथ ही शिक्षा समिति के सदस्यों को निर्देश दें कि चोरी छुपे शराब पीने वाले या आपूर्ति करने वालों की पहचान करें . इसके बाद इसकी सूचना मद्य निषेध विभाग के मोबाइल नंबर एवं टोल फ्री नंबर पर दें।

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने कहा है कि शराब की सूचना देने वालों की पहचान गोपनीय रखी जाएगी.शिक्षा विभाग के अधिकारियों से सरकार ने कहा है कि यह भी सुनिश्चित किया जाए कि विद्यालय अवधि के बाद चोरी-छुपे नशा पान करने वाले लोग विद्यालय परिसर का उपयोग न करें. शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने मद्य निषेध विभाग के मोबाइल नंबर 94734 00378 और 94734 00606 के साथ ही टोल फ्री नंबर 18003 456 268/15545 पर सूचना दें।