फेसबुकिया आंदोलनकारी चढ़ा पुलिस के हत्थे

0
facebook andholankari

फेसबुक पर आंदोलन की चेतावनी देने में था माहिर

बड़हरिया के रह चुका था उपप्रमुख

पूर्व उपप्रमुख  व तीन पर दर्ज हुई थी रंगदारी मांगने की प्राथमिकी

परवेज़ अख्तर/सीवान:- रविवार की देर शाम नगर थाना पुलिस ने गुप्त सुचना के आधार पर रंगदारी के मामले में फरार चल रहे पूर्व उपप्रमुख फहीम आलम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।उसकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस उसे नगर थाना के हाजत में बंद करके रखी हुई है।उधर नगर थाना की पुलिस ने इसकी सुचना बड़हरिया थाना पुलिस को भी दे दी है।बतादें की जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के महबूब छपरा गांव निवासी पूर्व उपप्रमुख सह बीडीसी सदस्य फहीम आलम और तीन अन्य अज्ञात लोगों पर पांच लाख रुपये रंगदारी मांगने का आरोप लगाते हुए मो. नसरुद्दीन ने बड़हरिया थाने में प्राथमिकी कांड सं.207/18 दर्ज कराई थी पीड़ित व्यक्ति गोपालगंज जिले के मांझागढ़ थाना क्षेत्र के छितौली गांव निवासी मो. साकिर के पुत्र हैं। थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने बताया कि मामले का अनुसंधान के क्रम में घटना सही निकली।और वरीय पुलिस पदाधिकारी के सुपरविजन में केस को सत्य माना गया।तथा गिरफ्तारी का आदेश भी दिया गया था।बतादें की पीड़ित नसरुद्दीन ने अपने बयान में कहा था कि महबूब छपरा निवासी सह पूर्व प्रमुख फहीम आलम और तीन अज्ञात लोगों ने पांच लाख रुपये रंगदारी मांगी और नहीं देने पर अंजाम भुगतने की बात कही थी।उधर पुलिस अन्य कांड के आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास में जुटी हुई है।उधर उसके गिरफ्तारी पर बड़हरिया विधान सभा के पूर्व प्रत्यासी मो.लड्डन मियां ने कहा की कानून को मानते हुए  पुलिस ने अपना काम किया है।दूसरी ओर उन्होंने कहा की गिरफ्तार रंगदार फेसबुकिया आंदोलनकारी है।तथा सिर्फ फेसबुक पर ही आंदोलन की चेतावनी देता है।तथा सभ्य व सम्भ्रांत परिवार को झूठा आश्वासन देकर गुमराह व ठगने का काम इसके आदतों में सुमार है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal