परिजनों लगाया अपहरण कर हत्या कर देने का आरोप

0
htya ka arop

24 अक्तूबर से लापता चांद बाबू का आबू रोड में मिला शव

परवेज अख्तर/सिवान :- जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के अटखंभा के मो हबीब के पुत्र व जीएम हाइ स्कूल बड़हरिया के नौवीं कक्षा छात्र चांद बाबू का शव आबू रोड स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक पर मिलने से सनसनी फैल गयी है.वैसे तो उसका शव गुरुवार को आबू रोड स्टेशन पर स्थानीय आरपीएफ पुलिस ने बरामद किया था.लेकिन ग्रामीणों को चांद मिलने की जानकारी शुक्रवार को हुई.चांद की मौत की खबर से ग्रामीण आक्रोशित हो गए. परिजन इसे अपहरण कर हत्या कर देने का मामला बता रहे हैं. चांद बाबू के बड़े भाई रजा आलम का कहना है कि मेरे छोटे भाई चांद बाबू को थाना क्षेत्र के अशरफ, आबिद अली व नसीम और बालापुर के एजाजुल उर्फ बहारन ने घर से बहला-फुसलाकर ले गए व रास्ते में उन लोगों ने उसकी हत्या कर दी.मृतक के परिजनों का कहना है कि फोन से पता चला कि वे लोग दिल्ली जाने के लिए निकले थे.लेकिन प्लान बदलकर वे गुजरात जाने लगे थे.मृतक के पिता मो हबीब ने बताया कि 27 अक्तूबर के बाद से चांद बाबू नहीं हो पायी है.फोन करने पर बहला फुसलाकर कर घर से ले जाने वाले उसके दोस्त अशरफ ने बताया कि चांद बाबू ट्रेन से गायब है.उसके चांद के परिजनों का माथा ठनका व उसके भाई व रिश्तेदार चांद की तलाश में निकल पड़े व रेलवे पुलिस को चांद के हालात के बारे में बताया. परिजनों बताया कि गुजरात रह रहे उनके रिश्तेदारोंं के कहने पर आरपीएफ ने गांधी धाम स्टेशन पर हिरासत में ले लिया. फिर उन्हें आबू रोड आरपीएफ के हवाले कर दिया गया. 14 भाई-बहनों में सबसे छोटे चांद बाबू की मौत से पूरे गांव में मातमी माहौल है.वहीं परिजनों का आरोप है कि बड़हरिया पुलिस उनकी एक भी सुनने को तैयार है. चांद बाबू को शव लेने के लिए उनके परिजन आबू रोड जा चुके हैं.इधर भाजपा नेता डॉ अनिल गिरि व राजद नेता मो एहतेशामुल हक सिद्दीकी ने मो हबीब के घर पहुंचकर उनके परिजनों को ढ़ाढ़स बंधाया व धैर्य बनाये रखने की बात कहीं.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal