हरिहरपुर लालगढ़ में मासूम को बंधक बना घर में लाखों की डकैती

0
robbery in harihar pur

10 की संख्या में थे हथियारबंद डकैत

कहीं चोरी तो कहीं डकैती की घटना को दिया अंजाम

सूचना के बाद नहीं पहुंची पुलिस

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के जी. बी. नगर थाना क्षेत्र के हरिहरपुर लालगढ़ पंचायत के गुरुवार की रात्रि हथियारों से लैस डकैतों ने एक घर में मासूम बच्चे को बंधक बना कर डकैती की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद कुछ ही दूरी पर स्थित एक मकान में चोरी की घटना को भी अंजाम दिया गया। डकैती की घटना को अंजाम देने आए डकैतों के पास हथियार भी थे। इस मामले में पीड़ित परिजनों ने पुलिस पर जबरन मामले को डकैती के बदले चोरी में बदलवाने का आरोप लगाया। पीड़ित परिजनों का आरोप था कि घटना की सूचना के बाद भी मौके पर पुलिस पदाधिकारी नहीं पहुंचे और जांच भी नहीं हुई। जानकारी के अनुसार हरिहरपुर लालगढ़ पंचायत के यादव मोड़ फुलवारी टोला निवासी नगीना चौरसिया के घर को अपना निशाना बनाते हुए छत के रास्ते घर में प्रवेश कर गए। डकैतों ने सभी कमरों की बारी-बारी से तलाशी ली।saman chori इसी बीच घर में अपने बच्चों के साथ सोई नंद कुमार चौरसिया की पत्नी अंजली देवी को डकैतों ने हथियार के बल पर बंधक बना लिया तथा उसके दो मासूम बच्चों में क्रमश: आर्या कुमारी (एक वर्ष) तथा निधि कुमारी को हथियार के बल बंधक बना कर शोर नहीं मचाने की बात कह घर में डकैती की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद अपराधियों ने दोनों मासूम बच्चे को मुक्त कर दिया। इसके बाद मुख्य दरवाजा खोल बरामदे में सोए नगीना चौरसिया को भी हथियार के बल पर बंधक बना लिया। घटना के समय बरामदे में सोए नगीना चौरसिया एवं घर में सोई उनकी पतोहू अंजली देवी एवं दो छोटे-छोटे मासूम बच्चे थे।

घटना को अंजाम देने के बाद डकैत धमकी देते हुए घर के पीछे खेत के तरफ से भागने में सफल रहे। परिजनों का कहना है कि डकैतों की संख्या करीब दस थी। बता दें कि अंजली देवी के पति नंदकुमार चौरसिया विदेश में रहते हैं। घटना के 20 मिनट बाद नगीना चौरसिया ने इसकी जानकारी आसपास के ग्रामीणों को दी। सूचना मिलते ही काफी संख्या में ग्रामीण पीड़ित के दरवाजे पर पहुंच गए। घर में बिखरे सामान को देख ग्रामीण सकते में आ गए। ग्रामीणों ने टॉर्च के सहारे आसपास के खेतों में डकैतों की तलाश की, लेकिन उनका कहीं सुराग नहीं मिला। इस घटना को लेकर ग्रामीणों द्वारा स्थानीय पुलिस को सूचना देकर अवगत कराया,लेकिन सूचना के बाद शुक्रवार की अल सुबह पुलिस पहुंची। पुलिस के देर से पहुंचने पर ग्रामीणों में पुलिस के प्रति आक्रोश देखा गया। इस घटना को लेकर पीड़ित नगीना चौरसिया जब शुक्रवार की अल सुबह स्थानीय थाना गए तो पुलिस ने डकैती का अल्पीकरण करते हुए चोरी की घटना का आवेदन लिया। जबकि नगीना चौरसिया ने बताया कि पुलिस द्वारा दबाव देकर चोरी का उल्लेख करते हुए आवेदन में लिखवा लिया गया, जबकि घटना हथियार के बल पर बंधक बनाकर लूट का है।

chhori in hariharpur

परिजनों पर दबाव बना डकैती की घटना को पुलिस ने चोरी में बदलवाया

वहीं दूसरी तरफ इसी पंचायत के यादव मोड़ के बलुआ टोला गांव में एक सरकारी शिक्षक शंभूनाथ यादव के घर चोरों ने खिड़की के रास्ते घर में प्रवेश कर करीब एक लाख रुपये के सोने एवं चांदी के आभूषण की चोरी की घटना को अंजाम दिया। सुबह जब घर के सदस्य उठे तो घर का सामान बिखरा देख भौचक रह गए तथा घर की तलाशी शुरू कर दी। तलाशी के दौरान घर कई सामान गायब पाया गया। बाद में शुक्रवार की अल सुबह घर की पेटी एवं कपड़ा पास के खेत में फेंका हुआ पाया गया, लेकिन बक्सा का ताला टूटा हुआ था। परिजनों के अनुसार चोरों ने करीब एक लाख रुपये के सोने एवं चांदी के आभूषण पर हाथ साफ किया है। इस मामले में पुलिस जांच कर रही है।family