जिले में मौसम में बदलाव के चलते बढ़ रहे बुखार के मरीज

0
  • अस्पतालों में ज्यादा वायरल फीवर के मरीज आ रहे हैं। लेकिन अबतक जांच में कोई डेंगू का मरीज प्रमाणित नहीं हुआ है
  • स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, अबतक जांच में नहीं मिले एक भी मरीज
  • अलग से डेंगू वार्ड बनाने के लिए अस्पताल परिसर में जगह नहीं
  • 20 डेंगू कीट अस्पताल में उपलब्ध
  • 02 सौ 50 में मिल रहा डेंगू जांच कीट

परवेज अख्तर/सिवान: जिले में मौसम में बदलाव के कारण इन दिनों सदर अस्पताल समेत जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में मरीजों की काफी भीड़ उमड़ रही है। इसमें ज्यादा वायरल फीवर के मरीज आ रहे हैं। लेकिन अबतक जांच में कोई डेंगू का मरीज प्रमाणित नहीं हुआ है। हालांकि सदर अस्पताल प्रबंधन डेंगू को लेकर अलर्ट है। तत्काल डेंगू के इलाज के लिए 20 कीट अस्पताल में उपलब्ध है। लेकिन कमी यह दिख रही है कि अगर मरीजों की संख्या बढ़ी तो अलग से वार्ड बनाने के लिए अस्पताल परिसर में जगह नहीं है। ऐसे समान्य मरीजों की तरह बेड, दवा आदि की व्यवस्था है। महत्वपूर्ण है कि वायरल फीवर के जरिए डेंगू अपना पांव पसार सकता है। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

मादा एडीज इजिप्टी मच्छर काटने से होता है डेंगू

डेंगू मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। इन मच्छरों के शरीर पर चीते जैसी धारियां होती हैं। ये मच्छर दिन में, खासकर सुबह में काटते हैं। डेंगू की शिकायत बरसात के मौसम में सबसे ज्यादा होती है। ऐसे में घर पर और आसपास साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है।

डेंगू से बचाव के निम्न तरीके अपनाएं

हर रविवार मच्छर पर वार अभियान के तहत सभी लोग रविवार को पानी टंकी, कूलर, गमले के पानी को बदल दें। टायर, टूटे बर्तन आदि में भी पानी न रहने दें। जलजमाव वाले स्थान पर छिड़काव करें। घर के पास खुली नाली है तो वहां भी छिड़काव करें। मच्छरदानी लगाकर सोएं।

मैरवा रेफरल असपताल में जांच के लिए कीट नहीं

मैरवा में बुखार से पीड़ित मरीज की संख्या बढ़ रही है। जिसमें डेंगू के संदेहास्पद मरीज मिल रहे है। डेंगू के बढ़ते प्रकोप के बीच रेफरल असपताल में इसकी जांच के लिए कीट उपलब्ध नही है। बुखार के संदेहास्पद मरीज को जांच के लिए सीवान भेजा जा रहा है। अस्पताल में जांच के लिए कीट नहीं रहने से मरीज निजी अस्पताल में महंगे दर पर जांच कराने को विवश है।

क्या कहते हैं अधिकारी

सदर अस्पताल डेंगू से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। फिलहाल अस्पताल में जांच के दौरान एक भी डेंगू पीड़ित मरीज नहीं पाए गए हैं। 20 डेंगू कीट उपलब्ध है जरूरत पड़ने और व्यवस्था कर ली जाएगी।