बिहार के स्कूली बच्चों के लिए खुशखबरी, 27 जनवरी से कक्षा 1 से 8 तक के बच्‍चे भी जा सकते हैं स्‍कूल

1

पटना: बिहार के स्कूली बच्चों के लिए खुशखबरी है, अब क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चों को भी जल्द ही स्कूल जाने की अनुमति मिल सकती है. शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार के अनुसार इस महीने के अंत तक क्लास 1 से 8 तक के लिए स्कूल खोले जाने का सरकार फैसला ले सकती है. इसको लेकर 25 जनवरी तक मुख्य सचिव की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

प्रधान सचिव ने कहा कि 4 जनवरी से क्लास 9 से 12 तक की कक्षाएं संचालित हो रही हैं, जिनमें 50 प्रतिशत में 30 प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति देखी जा रही है. ऐसे में अब उसी पैटर्न पर क्लास 1 से 8 तक के बच्चों की भी पढ़ाई शुरू हो, इस पर जल्द फैसला होगा.

संजय कुमार ने साफ कहा कि अब तक कहीं से किसी प्रकार की अप्रिय खबरें नहीं आई हैं और सही फीडबैक मिल रहा है. ऐसे में 25 जनवरी को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी और 27 जनवरी से छोटे बच्चों के लिए शर्तों के साथ स्कूल खोले जा सकते हैं.

बता दें कि राज्य में 4 जनवरी सरकार ने 9वीं कक्षा से लेकर 12वीं तक के लिए स्कूल खोलने का आदेश दिया था जिसके बाद मुंगेर, नवादा, पटना समेत कई जिलों में शिक्षक से लेकर छात्र तक कोरोना संक्रमण के शिकार हुए थे. मामला प्रकाश में आने के बाद शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि राज्य के सरकारी स्कूलों में रेंडमली छात्रों और शिक्षकों की कोरोना जांच की जाए.

स्वास्थ्य विभाग ने इस पर अमल करते हुए जांच की कार्रवाई भी तेज कर दी है और कई जिलों में सैम्पल जांच की प्रक्रिया भी जारी है. ऐसे में अब इंतजार करना होगा कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में क्या फैसला लिया जाता है. अगर स्कूल खोल दिये जाते हैं तो अभिभावक छोटे बच्चों को स्कूल भेजने पर सहमति जताते हैं या नही, यह भी एक बड़ा सवाल है.

छोटे बच्चों के स्कूल खोलने को लेकर सस्पेंस में सरकार, 10 दिन बाद हो सकता है फैसला.

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते लगाए गए लॉकडाउन के कारण बिहार में बंद हुए स्कूल और कॉलेजों को 4 जनवरी से खोला गया है. वहीं, छोटे बच्चों को स्कूल भेजने को लेकर सरकार अभी भी संशय में है. 9 महीने से बंद पड़े इन स्कूलों को खोलने को लेकर अभी भी सरकार वेट एंड वॉच की पॉलिसी अपना रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 10 दिनों के बाद बिहार में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप  की बैठक होगी, जिसमें इस बात का फैसला लिया जाएगा कि छोटे बच्चों के स्कूल अभी खोले जाएं या नहीं.

बिहार में अभी नौवीं से बारहवीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खोले गए हैं. औसतन 50 फ़ीसदी बच्चों को रोजाना बुलाया जा रहा है, लेकिन कोरोना के केस को ध्यान में रखते हुए सरकार ने अभी भी छोटे बच्चों को लेकर कोई फैसला नहीं किया है. बिहार सरकार के मुताबिक अभी तक जिन स्कूलों को खोला गया है उनमें वही बच्चे पढ़ने आ रहे हैं जिन्हें अभिभावक भेजना चाह रहे हैं. बावजूद इसके उनकी संख्या कम है.

1 COMMENT

Comments are closed.