गोपालगंज: जिले में 16 सत्र स्थलों पर फ्रंटलाईन वर्कर्स को लगाया गया कोविड-19 टीका

0

गोपालगंज: कोविड-19 से बचाव के लिए वैक्सीन आने के बाद से ही स्थाई निजात की उम्मीद के साथ लोगों में खुशी का माहौल है । पहले चरण के तहत स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन पूरे जोर-शोर के साथ किया जा रहा है। वैक्सीनेशन के बाद अबतक कहीं से भी साइड इफेक्ट की खबरें सामने नहीं आई है। जो वैक्सीन के पूरी तरह सुरक्षित होने का जीता-जागता सबूत है। इसलिए वैक्सीन लेने से किसी प्रकार का परहेज नहीं करें। क्योंकि, स्वास्थ्य विभाग के अनुसार वैक्सीन ही कोविड-19 से स्थाई निजात का एकमात्र उपाय और सबसे बेहतर व आसान रास्ता भी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

शनिवार को भी जिले के 16 सत्र स्थलों पर कोविड-19 का टीकाकरण किया गया। टीकाकरण के लिए सत्र स्थल का निर्धारण निर्वाचन बूथ के अनुसार ही किया गया है। अब निजी अस्पताल में टीकाकरण नहीं किया जायेगा। अब उसे सदर अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है। वहीं पर निजी स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जायेगा। सत्र स्थल पर 3 कक्ष उपलब्ध हैं , पहला कक्ष लाभार्थियों को टीका लेने के लिए वेटिंग एरिया, दूसरा कक्ष टीकाकरण के लिए एवं तीसरा कक्ष टीकाकरण के पश्चात 30 मिनट तक लाभार्थी की निगरानी के लिए, ऑब्जर्वेशन रूम में पर्याप्त संख्या में बेड एवं कुर्सी की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गयी है।सिविल सर्जन डॉ. टीएन सिंह ने कहा कि कोविड-19 का टीका पूरी तरह से सुरक्षित है।

पूरा जांच-परख के बाद ही टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई है। इससे घबराने और डरने की जरूरत नहीं है। हमारे वैज्ञानिक धन्यवाद के पात्र हैं कि इतने कम समय में महामारी के खिलाफ कोविड-19 का टीका बनाने में सफल रहे हैं। स्वयं परिवार और समाज की सुरक्षा के लिए सभी को वह कोविड-19 का टीका लेना चाहिए। ताकि संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके या इसे खत्म किया जा सके।