गोपालगंज:- मंडल कारा द्वारा शिक्षा पर विशेष दिया जा रहा है बल

0

गोपालगंज: मंडल कारा चनावे में बंदियों में सुधारात्मक प्रवृति के विकास एवं इसके समवर्धन हेतु शिक्षा पर विशेष बल दिया जा रहा है । जेल अधीक्षक अमित कुमार ने बताया कि नेशनल इन्स्टिटूट ओफ़ ओपेन स्कूल के तहत अभियान चलाकर वर्तमान सत्र में कक्षा दस एवं बारह में 91 बंदियों का नामांकन किया गया है, जिसमें 07 महिला बंदी भी शामिल है। कक्षा 3,5,8 तथा व्यावसायिक कार्यक्रम हेतु अफ़िलीएशन हेतु NIOS में ऑनलाइन आवेदन भी कर दिया गया है। NIOS द्वारा पाठ्यक्रम की स्वीकृति मिलते ही इनमे भारी संख्या में नामांकन की आशा है। नामांकन हेतु कारा के अंदर ‘शिक्षा मेला’ लगाया गया ।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

जिसमें बंदियों को पाठ्यक्रम की विशेषताओं एवं नामांकन हेतु जानकारी जानकारी दी गयी।दो महिला एवं दो पुरुष कक्षपालो को नामांकन में सहयोग हेतु शिक्षामित्र बनाया गया है।कक्षपाल रिंकु कुमारी, जूली कुमारी, राजकुमार ,दयानिधि कुमार और राजीव रंजन शिक्षामित्र के रूप में ने बंदियों के नामांकन हेतु अत्यंत प्रशंसनीय कार्य किया है।बंदियों को घर से आधार कार्ड मंगाने हेतु कॉल करने तथा ऑफ़िस के whatsapp नम्बर पर काग़ज़ मंगाने की सुविधा दी गयी है। फ़ोटो एवं अन्य चीजें भी कार्यालय द्वारा मुहैया करायी गयी।

कारा मुक्ति के उपरांत भी बंदी आसानी से अपना पाठ्यक्रम जारी रख सकते है। इसके लिए नामांकन में बंदी के घर का मोबाइल नम्बर दिया गया है ताकि कारामुक्ति के उपरांत बंदी को नोटिफ़िकेशन मिलता रहे। बंदियों का परीक्षा फ़ॉर्म भी जेल में ही भरा जाएगा तथा परीक्षा भी जेल में ही होगी। ख़ास बात यह है की सर्टिफ़िकेट पर जेल का ज़िक्र नहीं होगा ताकि बंदियों को असहजता का सामना नहीं करना पड़े और वो समाज की मुख्य धारा में शामिल हो सके। ध्यातव्य है कि NIOS के अतिरिक्त जेल में इग्नु (उन्नीस नामांकन), महिला एवं पुरुष प्रौढ़ साक्षरता कार्यक्रम, बंदियों के बच्चों के लिए बालबाड़ी कार्यक्रम, व्यावसायिक शिक्षा हेतु RSETI कार्यक्रम भी चल रहे है।