गोपालगंज: कोविड प्रोटोकॉल के साथ स्वास्थ्य संस्थानों पर आयोजित होगा मिशन परिवार विकास अभियान

0
  • परिवार नियोजन मेला और प्रदर्शनी पर रहेगी रोक
  • कार्यपालक निदेशक ने जारी किया संसोधित दिशा निर्देश
  • ई-रिक्शा के माध्यम से किया जायेगा समुदाय को जागरूक

गोपालगंज: वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के बीच अन्य स्वास्थ्य सेवाओं को भी समुदाय तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। इसी कड़ी में परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत जिले में मिशन परिवार विकास अभियान चलाया जायेगा। इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किया है। 10 से 29 जनवरी तक मिशन परिवार विकास अभियान का आयोजन किया जायेगा। 10 जनवरी से 29 जनवरी 2022 तक सभी जिलों में निशन परिवार विकास अभियान आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। वर्तमान समय में राज्य में कोरोना महामारी जनित तीसरी लहर से कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। वर्तमान परिस्थिति को देखते हुये इस कार्यालय का पत्रांक-5989 दिनांक 23.12.2021 द्वारा कोविड-19 महामारी के दौरान परिवार नियोजन सेवाओं के संचालन हेतु निर्गत किये गये दिशा-निर्देश का अनुपालन करते हुये मिशन परिवार विकास अभियान को संपादित किया जाय। साथ ही प्रत्येक एफडीएस (फिक्स डे सर्विसेज) पर 10 लाभार्थियों का बंध्याकरण / नसबंदी ऑपरेशन किया जायेगा। आवश्यकतानुसार एफडीएस की संख्या बढ़ाई जा सकती है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

परिवार नियोजन मेला और प्रदर्शनी पर रहेगी रोक:

जारी पत्र में कहा गया है कि मिशन परिवार विकास अभियान के दौरान गृह मंत्रालय, भारत सरकार एवं बिहार सरकार द्वारा कोविड-19 के संदर्भ में निर्गत दिशा-निर्देश के आलोक में परिवार नियोजन सेवा प्रदान करने के क्रम में सामाजिक दूरी का पालन एवं कोविंड के संक्रमण से बचाव हेतु समुचित सुरक्षात्मक उपाय अपनाया जाय। मिशन परिवार विकास के दौरान मेलों एवं प्रदर्शनी के आयोजन पर रोक रहेगी । स्वास्थ्य संस्थानों पर भीड़-भाड़ एकत्रित नही होने दिया जाय। साथ हीं संबंधित स्वास्थ्य केन्द्र पर आये हुये लाभार्थी में कोविड प्रोटॉकाल यथा मास्क का उपयोग एवं सामाजिक दूरी का विशेष रूप से ध्यान रखा जाय।

दो माह के लिए परिवार नियोजन साधनों का होगा वितरण:

पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि लाभार्थी को परिवार नियोजन सेवा अंतर्गत अस्थायी विधि यथा-कंडोम, गर्भनिरोधक गोली, अंतरा सूई एवं कॉपर टी जैसी गर्भनिरोधक को अपनाने हेतु प्रेरित किया जाय एवं लाभार्थी को दो माह के लिए परिवार नियोजन सामग्री प्रदान किया जाय। साथ ही मिशन परिवार विकास अभियान के दौरान ई-रिक्शा (सारथी) के माध्यम से परिवार नियोजन अपनाने के साथ-साथ कोविड-19 से बचाव हेतु सुरक्षात्मक उपाय अपनाने को भी जागरूक किया जाय।