गोपालगंज:- थावे रेलखंड पर एक भी ट्रेन का शुरू नहीं हुआ परिचालन

0

गोपालगंज: दीपावली तथा छह पर्व मनाने घर लौट रहे परदेसियों की डगर मुश्किल हो गई है। कोरोना महामारी को लेकर लॉकडाउन लगने के बाद थावे रेलखंड पर भी ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया। अब आठ महीना होने को है। अनलॉक में दुकानों से लेकर प्रतिष्ठान खुल गए हैं। सिनेमा हॉल तथा रेस्टोरेंटों में भी रौनक बढ़ने लगी है। लेकिन अब तक थावे रेलखंड से एक भी ट्रेन का परिचालन शुरू नहीं किया गया है। जिससे त्योहार मनाने घर लौट रहे दूसरे प्रांतों के लोग जैसे तैसे अपने घर पहुंच रहे हैं। घर लौटने के लिए सफर के दौरान बाहर से आने वाले लोगों को काफी दिक्कतें झेलनी पड़ रही है। जिले में थावे- गोरखपुर तथा थावे-छपरा रेलखंड पर कोरोना काल से पहले 11 जोड़ी पैसेंजर ट्रेन तथा साप्ताहिक एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन होता था।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

इन ट्रेंनों में प्रतिदिन हजारों यात्री सफर करते थे। रेलवे को भी अच्छा खासा राजस्व प्रतिदिन मिलता था। त्योहार के सीजन में स्पेशल ट्रेनों का भी परिचालन किया जाता रहा है। जिसे लोगों को काफी राहत मिलती थी। लेकिन इसी बीच मार्च में कोरोना संक्रमण को लेकर लॉकडाउन लगने से ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया। आठ महीने से दोनों रेखखंड से सिर्फ मालगाड़ी का परिचालन किया जा रहा है। अन्य रेलखंडों पर ट्रेनों का परिचालन शुरू होने के बाद भी अभी तक जिले से होकर गुजर रही दोनों रेलखंड पर एक भी ट्रेनों का परिचालन शुरू नहीं किया गया।

जिससे दीपावली तथा छठ पर्व मनाने घर लौट रहे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा है। दूसरे प्रांतों में काम करने वाले लोग ट्रेन से गोरखपुर या सिवान आने के बाद बस या अन्य सवारी वाहन से जैसे तैसे अपने घर पहुंच रहे हैं। प्रखंड प्रमुख सोनाली देवी, मुखिया उमेश यादव, अजय कुमार, सरपंच नुरुल हसन, व्यवसाई श्यामबिहारी गुप्ता, तारकेश्वर प्रसाद श्रीवास्तव ,मुन्ना श्रीवास्तव, बीडीसी अशोक कुमार गुप्ता आदि ने रेल प्रशासन से छह महापूर्व को देखते हुए ट्रेनों का परिचालन शुरू करने की मांग की है।