गोपालगंज: गोपालगंज में महिला बंदी भी कर रही हैं सब्जी की खेती

0

गोपालगंज: जिले के थावे प्रखंड के चनावे गांव स्थित गोपालगंज मंडल कारा में महिला बंदी भी सब्जी की खेती कर रही है।बताया जाता है,की जेल में सजायवार बंदी भी  सब्जी की खेती करते हैं। जेल में फूल गोभी,पालक, बैगन,टमाटर, हरी मिर्च आदि सब्जी की खेती की जाती है।इसके साथ ही महिला खंड में महिला बंदी भी सब्जी की खेती कर रही है। हरा सब्जी बंदियों के लिए बाहर से खरीदना नही पड़ता है, जेल में उपज रहे हरी सब्जियों से जेल में बंद कैदियो को सब्जी बनाकर खिलाया जा रहा है। जेल अधीक्षक अमित कुमार ने बताया कि जो बंदी सब्जी की खेती करते आ रहे हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

उन बंदियों को पारिश्रमिक दी जाती है।बंदी की पारश्रमिक राशि को जेल प्रशासन द्वारा सब्जी की खेती में काम कर रहे बंदियों के सीधे बैक खाते में भेज दी जाती है।इसके साथ ही जेल के दूसरे भाग को बनाए नवीन खंडो को कोबिड को लेकर बाहर यानी गोपालगंज जिला या दूसरे जिलों से आ रहे बंदियों को नए जेल में बनाए गए आइसोलेशन में रखा जा रहा है।इन सभी बंदियों को तुलसी का काढा नियमित रूप से सुबह में पिलाई जा रही है।उन्होंने बताया कि जेल में उत्तम किस्म का तुलसी का पौधे लगाए गए हैं।जिसका उपयोग जेल में बाहर से आ रहे बंदियों को पिलाने में की जा रही है।