बिहार में महागठबंधन की सरकार तय, नीतीश कुमार CM, तेजस्वी होंगे डिप्टी सीएम

0

पटना: बिहार में जारी सियासी हलचल और विभिन्न दलों के महत्वपूर्ण बैठक के बीच नई सरकार की तैयारी लगभग कर ली गई है. ताजा अपडेट के मुताबिक कांग्रेस-लेफ्ट ने तेजस्वी को अपने विधायकों का समर्थन पत्र सौंप दिया है. पटना में राबड़ी आवास में हुई महागठबंधन की बैठक में तेजस्वी तो ये समर्थन पत्र सौंपा गया है. दूसरा अपडेट ये है कि सरकार के गठन को लेकर नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच भी बात हो गई है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

सूत्रों के मुताबिक तेजस्वी ने नीतीश कुमार से गृह विभाग और स्पीकर की मांग की है. बात होने के बाद आरजेडी, कांग्रेस, लेफ़्ट के विधायक एक साथ सीएम हाउस जाएंगे जहां संयुक्त बैठक होगी. इस बीच खबर ये भी है कि दोपहर बाद सीएम नीतीश कुमार राजभवन भी जाएंंगे. सूत्रों के मुताबिक महागठबंधन में जो डील हुई है उसके तहत नीतीश कुमार 8-10 महीने तक ही बिहार के सीएम होंगे. उसके बाद वो 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए विपक्ष के पीएम पद के उम्मीदवार होंगे.

कांग्रेस ने सत्ता परिवर्तन को लेकर अहम बयान दिया है पार्टी के वरीय नेता और विधायक शकील अहमद खान ने कहा है कि महागठबंधन और नीतीश कुमार के बीच डील पक्की हो गई है शकील अहमद खान जो कि कांग्रेस के विधायक हैं ने दावा किया है कि यह डील के तहत महागठबंधन की सरकार में नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री होंगे.

शकील ने कहा कि बिहार से हमेशा बदलाव की शुरुआत हुई है और इस बार भी ऐसा ही कुछ होने जा रहा है. इससे पहले मंगलवार को बिहार की राजधानी पटना में सुबह से ही सियासी हलचल तेज हो गई है एक तरफ जहां जदयू ने अपने सभी सांसद और विधायकों को नीतीश कुमार के आवास पर बैठक में शामिल होने के लिए बुलाया है तो वहीं दूसरी तरफ महागठबंधन के घटक दल यानी राजद कांग्रेस और वामदलों की महत्वपूर्ण बैठक राबड़ी देवी के आवास पर हुई.

नई सत्ता के संकेत मिलने के बाद बीजेपी के वरीय नेता डिप्टी सीएम किशोर प्रसाद के आवास पर भी बीजेपी के नेताओं की बैठक चल रही है. माना जा रहा है कि नीतीश कुमार के ऐलान के बाद बीजेपी कोटे के मंत्री अपना इस्तीफा देंगे. इससे पहले कांग्रेस ने अपने सभी 19 विधायकों के साथ राबड़ी आवास में बैठक में शामिल होने का फैसला लिया था और माले के भी सभी विधायक इस बैठक में मौजूद रहे थे.