गुठनी: सागर जीविका के सहकारी समिति का वार्षिक आम सभा का आयोजन

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के गुठनी प्रखंड मुख्यालय स्थित उत्तर के मठिया परिसर में शनिवार को सागर जीविका महिला विकास स्वावलंबी सहकारी समिति तेनुआ द्वारा सीएलएफ अध्यक्ष गायत्री देवी के नेतृत्व में वार्षिक आम सभा का आयोजन किया गया। आम सभा में वित्तीय वर्ष 2023-24 का ब्योरा प्रस्तुत किया गया। साथ ही आगामी वार्षिक योजनाओं के सफल संचालन पर चर्चा की गई। वहीं अच्छा कार्य करने वाले समूह के कई सदस्यों को पुरस्कृत भी किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ सागर जीविका महिला विकास स्वावलंबी सहकारी समिति की अध्यक्ष पुष्पा देवी, सचिव बबीता देवी, कोषाध्यक्ष रीता देवी, प्रशिक्षण अधिकारी विजय ज्योति, राकेश पांडेय, बीपीएम सुजीत कुमार द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इसके बाद जीविका दीदी द्वारा स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम में स्वावलंबी सहकारी समिति की अध्यक्ष ने वर्ष 2022- 23 का लेखा जोखा प्रस्तुत किया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

उन्होंने उपलब्धियों की जानकारी देते हुए बताया कि वित्तीय वर्ष में वित्तीय समावेशन, स्वास्थ्य, पोषण, रोजगार, सामाजिक विकास, कृषि, पशुपालन, विभिन्न जागरुकता कार्यक्रम आदि के माध्यम से जीविका दीदियों को जीविकोपार्जन से जोड़ा गया है। केवल सागर सहकारी समिति से कुल 25 ग्राम संगठन, 350 स्वयं सहायता समूह एवं 4600 सदस्य जुड़े हैं। सागर संकुल से जुड़े 327 समूहों का खाता खुल चुका है और 327 समूहों को बैंक से ऋण भी दे दिया गया है। ऋण लेकर महिलाएं अपनी जरूरतों को पूरा कर रही हैं। कुल 4000 सदस्यों का बीमा योजना से जोड़ा गया है। कुल 1020 किचन गार्डन कर रही हैं। समिति से जुड़े हुए सभी 4010 सदस्यों के पास शौचालय है और उसका उपयोग भी कर रही हैं। संकुल संघ द्वारा ग्रामीण बाजार भी संचालित है। बीपीएम सुजीत कुमार ने बताया कि जीविका की उपलब्धि में एक वर्ष के अंदर सामुदायिक ऋण परिक्रमण से 14,34610 रुपये का लाभ अर्जित किया गया है। इस मौके पर क्षेत्रिय समन्वयक रणविजय सिंह, शैलेंद्र महतो, अरविंद कुमार, निशु देवी, संध्या देवी, गायत्री देवी, मनीषा कुमारी, मीरा देवी आदि उपस्थित थीं।