जिम ट्रेनर गोलीकांड: चार दिन बाद जेल में खुशबू और डॉ. राजीव की हुई मुलाकात, एक-दूसरे को जमकर कोसा

0

पटना: जिम ट्रेनर विक्रम सिंह पर हुए जानलेवा हमले के मामले में जेल जाने के बाद डॉ. राजीव सिंह व उनकी पत्नी खुशबू का सुकून छिन गया है। जेल में रहने से न उन्हें दिन में चैन मिल रहा है और न रात को नींद ही आ रही है। करवटें बदलने में ही उनकी रात कट रही है। रविवार को प्रावधान के तहत डॉ. राजीव और उनकी पत्नी खुशबू की जेल अधीक्षक कार्यालय में मुलाकात कराई गई। बाद में उन्हें अलग-अलग वार्ड में भेजा गया। जेल सूत्रों की मानें तो मुलाकात के दौरान आमना-सामना होने पर दोनों एक-दूसरे को कोसते रहे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

पुलिस की मानें तो डॉ. राजीव और उनकी पत्नी खुशबू के बीच भी मनमुटाव था। एक साल पूर्व दोनों के बीच में झगड़ा हुआ था। इसको लेकर खुशबू बुद्धा कॉलोनी थाने पहुंच गई थी। एफआईआर दर्ज कराने के लिए दोनों के बीच में घंटों थाने में हाईप्रोफाइल ड्रामा हुआ था लेकिन पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हो गया था।

फरार सूरज और विकास की तलाश में छापे जारी

जिम ट्रेनर पर हुए जानलेवा हमले के मामले में खुशबू, उनके पति डॉ. राजीव समेत छह आरोपित गिरफ्तार कर जेल भेजे जा चुके हैं। इस मामले में जेल गए आरोपित मिहिर का चचेरा भाई सूरज व विकास नाम का अपराधी अभी पकड़े नहीं जा सके हैं। दोनों की तलाश में पुलिस उनके संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। कदमकुआं थाना प्रभारी विमलेंदु कुमार ने बताया कि दोनों आरोपितों के बारे में अहम सुराग मिले हैं। जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा।

ये है मामला

पटना में पिछले दिनों जिम ट्रेनर विक्रम सिंह जानलेवा हमला हुआ था। इस मामले लंबी पूछताछ के बाद पटना पुलिस ने पिछले हफ्ते गुरुवार को जदयू नेता व डॉक्टर राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू सिंह सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस को जिम ट्रेनर और खुशबू की एक तस्वीर मिली थी, जिसमें दोनों एक साथ गाड़ी में घूमते नजर आ रहे हैं। इसके अलावा कॉल रिकॉर्ड से यह बात भी सामने आई है कि खुशबू और जिम ट्रेनर विक्रम में 9 महीने के दौरान 1100 बार मोबाइल पर बातचीत हुई थी। दोनों के बीच के संबंध ही विक्रम पर फायिरंग की वजह बनी। पुलिस सूत्रों ने कहा कि विक्रम को रास्ते से हटाने के लिए तीन लाख की सुपारी दी गई थी, लेकिन गोलियां लगने के बाद भी उसकी जान बच गई। फिलहाल वह पीएमसीएच के आईसीयू में भर्ती है।