हसनपुरा: दुश्मनों की गोली सीने पर खाकर शहीद हुए शिवजी यादव

0
Dead Body
  • 16 दिसम्बर को आतंकी हमले में लगी थी गोली
  • मौत की घटना के बाद परिजनों में मचा कोहराम

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के एमएच नगर थाना के तेलकथु निवासी राम आशीष यादव के 52 वर्षीय पुत्र व बीएसएफ के जवान शिवजी यादव दुश्मन की गोली सीने पर खाकर आखिरकार शुक्रवार की सुबह शहीद हो गए। इसकी सूचना जैसे ही परिजनों को लगी कोहराम मच गया। बता दें कि 16 दिसंबर की सुबह सात बजे ड्यूटी के क्रम में जम्मू कश्मीर स्थित बॉर्डर पर आतंकियों की गोलीबारी में एक गोली उनके सीने में लग गयी थी। घायल होने की सूचना परिजनों को देकर 92 बेस आर्मी हॉस्पिटल में ले जाकर इलाज कराया जा रहा था।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

तभी शुक्रवार की सुबह उनके शहादत की खबर ने सबको झकझोर दिया। देश के नाम पर कुर्बान होने की सूचना जब गांव के लोग व अन्य परिजनों को लगी तो पूरा गांव शोक में डूब गया। साथ ही लोगों को इस बात का फख्र भी हुआ कि गांव का बेटा अपनी शहादत से सबका सिर ऊंचा कर गया। शहीद जवान सपरिवार जम्मू कश्मीर में ही रहते थे। उन्हें दो पुत्र व एक पुत्री है। बड़ा बेटा रवि कुमार 25 वर्ष, दूसरा बेटा रोहित कुमार 21 वर्ष व एक बेटी रुबी कुमारी 22 वर्ष की है। जिसमें रुबी की शादी हो चुकी है।

15 दिन पहले छोटे भाई की तबीयत खराब सुन आये थे गांव

शहीद जवान चार भाई व दो बहनों में सबसे बड़े थे। अन्य सभी भाई गांव पर रहते हैं। सभी भाई बहन विवाहित हैं। छोटे भाइयों में लक्ष्मण यादव, ओसिहर यादव, सुनील कुमार व बहनों में रीता देवी व गीता देवी शामिल हैं। वहीं 15 दिन पूर्व अपने छोटे भाई ओसिहर यादव की तबीयत खराब होने की सूचना पर गांव (तेलकथू) सपरिवार आए थे। इसी दौरान अपने बेटे की शादी का भी दिन रखवा कर वापस परिवार के साथ अपनी ड्यूटी पर चले गए थे। वहीं उनके शव को पैतृक गांव लाने की प्रक्रिया चल रही है। शनिवार की शाम तक पार्थिव शरीर गांव आने की संभावना है। घटना के बाद पत्नी विद्यावती देवी, सभी बच्चों के साथ-साथ मां राजमती देवी, पिता रामाशीष यादव व भाइयों का बुरा हाल बना हुआ है।