अपनी शौक पूरा करने के लिए करता था लूट….लूटी गई बाइक व मोबाइल बरामद….आईटीआई का छात्र निकला लुटेरा….

0

बेगूसराय: कैरियर बनाने को लेकर घर से पढ़ाई करने निकले छात्र अब अपने शौक को पूरा करने को लेकर लूटकांड को भी अंजाम देने में लगे हैं। ताजा मामले का खुलासा लाखो थाना क्षेत्र में हाल ही घटित मोटरसाइकिल लूटकांड के उद्भेदन से हुआ है। एसपी योगेंद्र कुमार ने आज प्रेस वार्ता कर बताया कि 10 जनवरी को लाखो थाना क्षेत्र के इनयार एवं पंसला ढाला के बीच अपराधियों द्वारा हथियार का भय दिखाकर एक बाइक सवार से मोटरसाइकिल एवं मोबाइल की लूट कर ली गई थी। लूट की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने मामले को दर्ज कर एक विशेष टीम का गठन किया एवं मोबाइल सर्विलांस तथा अन्य माध्यमों से अपराधियों की धरपकड़ शुरू की।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

इसी कड़ी में घटना का तार तेघड़ा थाना क्षेत्र के रघुनंदनपुर से जुड़ते चले गए जहां से अपराधी प्रियांशु कुमार उर्फ मार्शल उर्फ पियुष कुमार एवं राजू कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए अपराधियों का आपराधिक इतिहास सामने नहीं आया है। बताया जा रहा है कि प्रियांशु कुमार आईटीआई का छात्र है तो वही राजू कुमार भी ग्रेजुएशन की तैयारी कर रहा है। एसपी ने बताया कि पूछताछ में खुलासा हुआ कि दोनों छात्रों ने मोटरसाइकिल का शौक पूरा करने के लिए सर्वप्रथम फिलिपकार्ट के माध्यम से लाइटर रूपी हथियार की खरीद की और फिर उसका भय दिखाकर राहगीर से लूट की घटना को अंजाम दिया।

एसपी ने बताया कि मोटरसाइकिल लूट की घटना के बाद उनके व्दारा अमित कुमार, अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, सदर के नेतृत्व में पुअनि संतोष कुमार शर्मा, ओपी अध्यक्ष, लाखो ओपी एवं सशस्त्र बल का विशेष छापामारी दल का गठन किया गया। छापामारी दल द्वारा तकनीकी सहयोग एवं मैनुअल आसूचना संकलन प्राप्त कर कांड में संलिप्त दो अपराधकर्मियों को पुअनि अमर कुमार, तेघड़ा थाना सहयोग से गिरफ्तार किया गया है तथा लूटी गई मोटरसाइकिल, मोबाइल एवं घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल, लाइटरनुमा हथियार बरामद किया गया है।

एसपी ने कहा कि इस अपराध के लिए दोनों छात्रों को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जा रहा है। लेकिन बाद में इनके अभिभावकों से मुलाकात कर इनको सुधारने का भी प्रयास किया जाएगा। जिससे कि आगे यह आपराधिक घटनाओं को अंजाम न दे सकें।