कोविड-19 वैक्सीनेशन: दूसरे दिन भी निर्भीक होकर “जिन्दगी का डोज” लेने पहुंचे हेल्थ केयर वर्कर्स

0
  • जिले के 8 केन्द्रों पर हुआ कोविड-19 का टीकाकरण
  • टीकाकरण के दौरान विभिन्न केंद्रों का सीएस व अन्य पदाधिकारियों ने लिया जायजा

गोपालगंज: जिले में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरूआत कर दी गयी है। सोमवार को दूसरे दिन जिले के 8 केंद्रों पर स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण किया गया। दूसरे दिन भी स्वास्थ्य कर्मी “जिन्दगी की डोज” यानि कोविड का टीका लेने के लिए सेंटरों पर उत्साह के साथ निर्भीक होकर पहुंचे और कोविड का टीका लिया। प्रत्येक केंद्रों पर एक दिन में सौ-सौ कर्मियों को टीकाकृत करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। प्रत्येक टीकाकरण सत्र पर पांच-पांच कर्मियों को लगाया गया है। चुनाव बूथ के तर्ज पर टीकाकरण स्थल पर कार्य किया जा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

पंजीकृत लाभार्थियों को हीं टीका दिया जा रहा है। सभी टीकाकरण केंद्रों पर लाभार्थियों को आब्जर्वेशन रूम में बिठाया गया। वैक्सीनेशन के बाद उसका कोई साइड इफेक्ट तो नहीं हो रहा। लाभार्थी को कैसा महसूस हो रहा। चक्कर या उल्टी आदि की शिकायत तो नहीं आदि का अवलोकन करने के लिए उन्हें केंद्र के आब्जर्वेशन केंद्र पर रखा गया । उन्हें आधा घंटा देखने के बाद घर जाने दिया गया। टीकाकरण के लिए सत्र स्थल का निर्धारण निर्वाचन बूथ के अनुसार ही किया गया है। सत्र स्थल पर 3 कक्ष उपलब्ध हैं , पहला कक्ष लाभार्थियों को टीका लेने के लिए वेटिंग एरिया, दूसरा कक्ष टीकाकरण के लिए एवं तीसरा कक्ष टीकाकरण के पश्चात 30 मिनट तक लाभार्थी की निगरानी के लिए, ऑब्जर्वेशन रूम में पर्याप्त संख्या में बेड एवं कुर्सी की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गयी है।

विभिन्न केंद्रों का सीएस व अन्य पदाधिकारियों ने किया निरीक्षण:

कोविड19 टीकाकरण के दौरान विभिन्न केंद्रों पर सिविल सर्जन डॉ. टीएन सिंह, डीआईओ डॉ. शक्ति कुमार सिंह, डीपीएम धीरज कुमार, यूनिसेफ के एसएमसी रूबी कुमारी द्वारा निरीक्षण किया गया।

सप्ताह में चार दिन होगा कोविड टीकाकरण:

सिविल सर्जन डॉ. टीएन सिंह ने बताया कि कोविड-19 टीकारण प्रतिदिन नहीं किया जायेगा। सप्ताह में चार दिन यानि सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शनिवार को ही स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जायेगा। अगर इस दिन भी कोई सरकारी अवकाश होता है तो टीकाकरण नहीं किया जायेगा।

टीके की दो खुराक हैं जरूरी :

सीएस डॉ टीएन सिंह ने बताया कि कोरोना टीकाकरण का दूसरा डोज 28 दिनों के अंदर ही दोहराया जायेगा। जिन चयनित लाभार्थी को टीकाकरण के लिए कोविशील्ड का टीका दिया जायेगा उन्हें दूसरे डोज में कोविशील्ड वैक्सीन ही दी जायेगी। वहीं यदि किसी चयनित लाभार्थी को कोवैक्सीन दी गयी तो उसे कोवैक्सीन की ही दूसरी डोज दी जाएगी । कोविशील्ड के प्रत्येक वाइल में 10 डोज हैं। यानी इसके एक वाइल से 10 लोगों को टीकाकृत किया जा सकेगा। जबकि कोवैक्सीन वाइल में 20 डोज हैं।

निर्भीक होकर कराएं टीकाकरण:

डीआईओ डॉ शक्ति कुमार सिंह ने बताया कि वैक्सीन को लेकर मन में किसी तरह का भ्रम नहीं पालें एवं अफवाहों से दूर रहें। क्योंकि, वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। इसलिए, निर्भीक होकर सभी लोग वैक्सीनेशन कराएं। वैक्सीनेशन के दौरान सुरक्षा के हर मापदंडों का ख्याल रखा जा रहा है। ताकि, लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो। इसके अलावा वैक्सीनेशन सेंटर पर सुरक्षा के मद्देनजर भी पुख्ता इंतजाम हैं एवं कोविड-19 के गाइडलाइन का हर हाल पालन सुनिश्चित रूप से कराया जा रहा है।

टीका लेने के बाद सावधानी बरतनी जरूरी:

यूनीसेफ एसएमसी रूबी कुमारी ने बताया कोरोना से बचने के लिए जिन नियमों का पालन हम अभी कर रहे हैं, (जैसे- मास्क पहनना, छह फीट की सुरक्षित शारीरिक दूरी रखना और हाथ धोना), वैक्सीन लगने के बाद भी उन नियमों का पालन करते रहना जरूरी है। तभी वायरस से आप बचे रह सकते हैं।

इन केंद्रों पर हो रहा है टीकाकरण:

• अंबेडकर भवन, गोपालगंज
• सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, बैकुंठपुर
• सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, कुचायकोट
• प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, पंचदेवरी
• प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सिधवलिया
• प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, थावे
• प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, फुलवरिया
-सुमन हॉस्पिटल, गोपालगंज (निजी)

प्रत्येक टीकाकरण केंद्र पर इस तरह किया गया है टीम का गठन:

• सुरक्षाकर्मी (वैक्सीनेशन पदाधिकारी-1): भीड़-भाड़ को नियंत्रित करने के लिए
• सत्यापनकर्ता (वैक्सीनेशन पदाधिकारी-2): लाभार्थियों को सत्यापित करना चुनाव बूथ अनुसार
• टीकाकर्मी (वैक्सीनेटर पदाधिकारी-1): लाभार्थी का टीकाकरण करना
• सहयोगकर्मी/ उत्प्रेरक(वैक्सीनेशन पदाधिकारी-3) टीकाकर्मी को सहयोग देना, टीकाकरण के पश्चात् 30 मिनट तक लाभार्थी का अवलोकन करना
• सहयोगकर्मी/ उत्प्रेरक(वैक्सीनेशन पदाधिकारी-4) टीकाकर्मी को सहयोग देना, टीकाकरण के पश्चात् 30 मिनट तक लाभार्थी का अवलोकन करना