इंतेजार की घड़ियाँ समाप्त: बृहस्पतिवार को  प्रो.महमूद हसन अंसारी का राजद मे होगा मिलन समारोह

0
mahmud hasan ansari

राजद नेत्री हिना शहाब व पूर्व मंत्री अवध बिहारी चौधरी के नेतृत्व में होगा मिलन समारोह

राजद के कई नेता रहेंगे उपस्थित

परवेज़ अख्तर/सीवान:- बृहस्पतिवार को सुबह 10:00 बजे राजद के पूर्व सांसद मो.शहाबुद्दीन की पत्नी सह राजद नेत्री हिना शहाब व पूर्व काबीना मंत्री अवध बिहारी चौधरी के पहल पर राजद से नाराज होकर जदयू की सदस्यता ग्रहण किये प्रो. महमूद हसन अंसारी पुनः राजद पार्टी का दामन थामेंगे। श्री अंसारी अपने सैकड़ों समर्थको के साथ सीवान के राजद कार्यालय व्हाइट हाउस अपने पैतृक निवास बड़हरिया के करबला बाजार से बृस्पतिवार को सुबह 10:00 पहुँचेगें। उसके बाद राजद के वरीय नेताओं की उपस्तिथि में राजद का दामन थामेगें।बता दें की श्री अंसारी 2001 से 2010 तक  राजद अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाअध्यक्ष थे।लेकिन बड़हरिया के टिकट बटवारें को लेकर उन्होंने पार्टी से नाराज होकर जदयू का दामन थाम लिया था। इसी बीच बड़हरिया बीडीओ राजीव कुमार सिन्हा व प्रखंड प्रमुख सुबुक तारा खातुन के बीच हुई मारपीट को लेकर जदयू से इस्तीफा दे दिया था। श्री अंसारी का आरोप था की महिला सशक्ति करण की राग अलापने वाली सरकार में महिलाओं का सम्मान के बदले सरकार के पदाधिकारी अपमान कर रहे है। उन्होंने इस्तीफा देते समय यह आरोप लगाया था की सरकार के इशारे पर प्रमुख व इनके समर्थकों पर प्रसाशन द्वारा एकतरफा कारवाई की गई। जो सरकार के गिरती साख का परिचायक है। इसके अलावा श्री अंसारी ने जदयू को अल्पसंख्यक विरोधी भी बताया था। इसके अलावा उनहोंने कई गम्भीर आरोप भी लगाये थे।बता दें की श्री अंसारी की पत्नी शमा परवीन 2006 से 2011 तक  बड़हरिया कि प्रखंड प्रमुख रही और वर्तमान में श्री अंसारी  जे.पी. विश्वविद्यालय छपरा के सीनेट सदस्य हैं। उक्त आशय की जानकारी राजद अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव सह जिला पार्षद प्रतिनिधि एहतेशामुलहक सिद्दीकी ने दी।और श्री सिद्दीकी ने कहा की प्रो.महमूद हसन अंसारी को पुनः राजद में वापसी से पार्टी व कार्यकर्ताओं को एक नई उर्जा प्रदान होगी।साथ ही उन्होंने कहा की पूरे प्रदेश में आरएसएस कार्यकर्ता वर्तमान सरकार के इशारे पर काम कर रहे है। छोटी-छोटी बातों को पल -भर में एक जाती विशेष से जोड़ कर तनावपूर्ण स्तिथि कराकर माहौल को बिगाड़ दे रहे है। उनकी मनोकामना को जनता अच्छी तरह समझ चुकी है। इसका मुँहतोड़ जवाब बिहार की भोली-भाली जनता आगामी लोक सभा व विधान सभा चुनाव में देगी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal