हुसैनगंज: हीटवेव के कारण दो दिन से बीमार चल रहे पीटीसी सिपाही की मौत

0
Dead Body
  • 10 दिन पूर्व ही हुसैनगंज थाना में किया था ज्वाइनिंग
  • मौत के बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी

परवेज अख्तर/सिवान: हुसैनगंज स्थानीय थाना में तैनात एक पीटीसी सिपाही की आकस्मिक मौत हो जाने से पुलिस महकमे में सनसनी फैल गई है. मृतक रोहतास जिले के बिक्रमगंज थाना क्षेत्र के घोसियाकला गांव निवासी मो. इस्लाम अंसारी का पुत्र कलामुद्दीन अहमद के रूप में की गई.प्राप्त जानकारी के अनुसार पीटीसी सिपाही मो. कलामुद्दीन अहमद की मौत लू लगने से रविवार की रात हो गई. विदित है इस समय जिले में प्रचंड गर्मी को लेकर लोगों का जीना मुश्किल हो गया है. इसी क्रम में पीटीसी सिपाही को ड्यूटी के दौरान लू का असर हो गया था. वह पिछले दो दिनों से बिमारी चल रहे थे और दवा स्वयं बाज़ार से लाकर खा रहे थे. इसी दौरान थाना के मेस चलाने वाला रसोइया जो खाना बनाता है वह रविवार की रात खाना बना कर उनके बेड पर ले गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

उसने देखा कि वह गहरी नींद में सोये हुए हैं. उसने सोंचा कि उनका पैर हिला कर बोल देते हैं कि खाना रख दिया हूं आप जगने के बाद खा लेंगे. लेकिन जैसे ही रसोइया ने उनका पैर छुआ तो देखा कि उनके पैर से बहुत गर्मी सी महसूस हो रही है. साथ वह हीलडोल भी नहीं कर रहे हैं. ये देख कर तुरंत उसने अपने पुलिस पदाधिकारियों और साथियों को जानकारी दिया. सूचना पाते ही थानाध्यक्ष विजय कुमार यादव सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी व पुलिस जवान पहूंचे. पीटीसी सिपाही की नाजूक स्थिति देखते हुए आनन-फानन में सदर अस्पताल भर्ती कराया गया. जहां प्राथमिक उपचार करने के बाद चिकित्सकों ने उसकी गंभीर देते हुए उन्हें रेफर कर दिया. जिसके बाद उनका इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा था और इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

वही ईलाज के क्रम में चिकत्सको ने बताया कि लू लगने से उनकी मौत हुई है.वहीं मौत के बाद कलामुद्दीन का शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया जहां पोस्टमार्टम कराकर शव पुलिस लाइन पहुंचा और वहां दो मिनट का मौन रखते हुए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया जहां एसपी शैलेश कुमार सिन्हा सहित अन्य पदाधिकारियों ने उन्हें सलामी दी.सलामी देने के पश्चात् शव को ताबूत में पैक कर उनके परिजनों को सौंपते हुए उनके घर पुलिस वाहन से सम्मान के साथ भेज दिया गया. इधर कलामुद्दीन के मौत के बाद परिजनों का रो- रो कर बुरा हाल हो गया है.बताते चलें कि मृतक कलामुद्दीन इसके पहले मोतिहारी में तैनात थे और 12 दिन पहले ही तबादला होकर वह सीवान आए थे जहां एसपी द्वारा हुसैनगंज थाने में उनकी तैनाती की गई थी.

मृतक के बड़े भाई अली हुसैन अंसारी ने बताया कि रात्रि में सूचना मिली कि उनका तबीयत काफी बिगड़ चुका है और आप लोग जल्दी सीवान पहुंचीए.जिसके बाद हम लोग की सीवान पहुंचे तो देखा कि उनकी मौत हो गई है.इस मामले में एसपी शैलेश कुमार सिन्हा ने बताया कि चिकित्सकों के अनुसार सिपाही कि मौत लू लगने से हुई है. क्योंकि चिकित्सकों का कहना है कि जांच के क्रम में उनके शरीर का तापमान अत्यधिक था हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद यह स्पष्ट हो जाएगा कि किस कारण की मौत हुई है.