अनदेखी:- अगले दो महीने तक नहीं मिलेगी सदर अस्पताल में आइसीयू की सुविधा

0
siwan sadar aspatal

परवेज़ अख्तर/सिवान:
अगर आप गंभीर रूप से बीमार या घायल हैं और सदर अस्पताल के इलाज के भरोसे हैं तो यह गलतफहमी अपने दिमाग से निकाल दीजिए, क्योंकि सदर अस्पताल में गंभीर बीमारी या घायल मरीजों के बेहतर इलाज के लिए बनाए गए आइसीयू में अगले दो महीने तक किसी तरह की सुविधा नहीं मिलेगी। सिविल सर्जन ने स्पष्ट कर दिया है कि चिकित्सक छुट्टी पर हैं और आइसीयू को शुरू करने में कम से कम दो महीने लगेंगे। ऐसे में गरीब तबका या आर्थिक रूप से कमजोर मरीज और उसके स्वजन इलाज कराने के पहले अपनी जेब को जरूर टटोल लें, क्योंकि सदर अस्पताल से आपातकाल में रेफर ही सबसे बड़ा इलाज है।बता दें कि सदर अस्पताल का आइसीयू यहां सफेद हाथी के रूप में है। इसकी सुविधा शायद ही किसी मरीज को मिली है, हां यह बात जरूर है कि जेल से भेजे जाने वाले कुख्यातों को इसकी सुविधा जरूर मिल जाती है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

इसीयू वार्ड की सुविधा नहीं मिलने के कारण अस्पताल के मरीज व उनके स्वजन आर्थिक के साथ साथ मानसिक रूप से परेशानी झेलते हैं। सदर अस्पताल के चिकित्सक आइसीयू की सुविधा नहीं होने का हवाला देकर मरीजों को सीधे पटना या गोरखपुर रेफर कर देते हैं, जिस कारण गंभीर रूप से घायल या बीमार मरीज पटना या गोरखपुर पहुंचने के पहले ही बीच रास्ते में दम तोड़ देते हैं। ऐसे में जब अधिकारियों से इसको लेकर सवाल जवाब किया जाता है तो वे चिकित्सकों की कमी बता अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। बताते चलें कि राज्य स्वास्थ्य समिति की ओर से सदर अस्पताल परिसर में आइसीयू की सुविधा उपलब्ध कराई गई थी। शुरुआती दौर में कुछ दिनों तक मरीजों को इसका लाभ भी मिला था, लेकिन आइसीयू के लिए विशेषज्ञ चिकित्सक के नहीं रहने के कारण इसकी सेवा को बंद कर दिया गया। आइसीयू कक्ष में लगाए गए उपकरण अब बेकार पड़े हुए हैं। आइसीयू कक्ष में ही अभी चार वेंटिलेटर को लगाया गया है, लेकिन वह भी चिकित्सक के अभाव में बेकार पड़े हैं।

कहते हैं अधिकारी

चिकित्सक के अवकाश पर जाने से अभी आइसीयू की सेवा फिलहाल बंद है। आइसीयू चालू होने में अभी लगभग दो माह का समय लगा सकता है।

डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा सिविल सर्जन