जदयू नेता की पत्नी से थे अवैध संबंध, इसलिए सुपारी देकर जिम ट्रेनर पर करवाई फायरिंग

0

पटना: पुलिस ने गुरुवार को जदयू के पूर्व नेता और उनकी पत्नी सहित पांच लोगों को जिम ट्रेनर विक्रम सिंह (26) पर 19 सितंबर को हुए जानलेवा हमले के सिलसिले में कथित रूप से शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान फिजियोथेरेपिस्ट डॉ राजीव कुमार सिंह, उनकी पत्नी खुशबू सिंह, शूटर, लाइनर और एक अन्य आरोपी के रूप में हुई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
muskan buty

राजीव पहले जदयू मेडिकल सेल के राज्य उपाध्यक्ष के पद पर थे। हत्याकांड में नाम सामने आने के बाद उन्हें पद से हटा दिया गया था। पटना एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने उनकी गिरफ्तारी की पुष्टि की और हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि पुलिस मीडिया को संबोधित करेगी और अधिक जानकारी साझा करेगी।

जिम ट्रेनर को अज्ञात अपराधियों ने शनिवार सुबह उस समय गोली मार दी थी जब वे पटना मार्केट के जिम जा रहे थे। अज्ञात अपराधियों ने उसके शरीर में पांच गोलियां मारी थीं। पुलिस ने कहा कि विक्रम ने अपने ऊपर हुए जानलेवा हमले के लिए डॉ राजीव और उनकी पत्नी को आरोपी बनाया था।

ट्रेनर के बयान के बाद, पुलिस ने राजीव और उनकी पत्नी को उनके पाटलिपुत्र कॉलोनी स्थित आवास से हिरासत में लिया और प्रारंभिक पूछताछ के बाद रिहा कर दिया। जांच के दौरान पता चला कि विक्रम और खुशबू इस साल जनवरी से एक-दूसरे को जानते थे और तब से एक-दूसरे को 1100 बार फोन कर चुके हैं।

पुलिस ने दावा किया कि विक्रम की हत्या करने के लिए शूटर्स को हायर किया गया था जबकि गिरफ्तार डॉक्टर और उनकी पत्नी इस साजिश के पीछे के मास्टरमाइंड हैं। उन्होंने कथित तौर पर विक्रम की हत्या करने के लिए 3 लाख रुपये का भुगतान किया था। पुलिस को घटनास्थल से मिले सीसीटीवी फुटेज से यह पता चला कि इस घटना के पीछे अज्ञात अपराधियों का हाथ था।

डॉ राजीव, विक्रम और खुशबू के बीच कथित बातचीत का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इसमें दंपति को विक्रम को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी देते हुए सुना जा सकता है। दंपति ने बातचीत के दौरान कुछ पैसों के लेन-देन का भी जिक्र किया। ऑडियो करीब तीन महीने पुराना बताया जा रहा है।

विक्रम के परिवार के सदस्यों ने दावा किया कि वह इससे पहले भी एक जानलेवा हमले से बचा था। डॉ राजीव बोरिंग रोड में एक क्लिनिक चलाते हैं। उन्होंने कथित तौर पर विक्रम को खुशबू के साथ उसके संबंधों के कारण जान से मारने की धमकी दी थी।