बिहार के औरंगाबाद में बारातियों की कार नदी में गिरी, 5 की मौत दो घायल, एक की हालत गंभीर

0

औरंगाबाद: जिले के नबीनगर में रविवार की सुबह बरात से लौटने के क्रम में बारातियों की हुंडई कार अनियंत्रित होकर पुल के रेलिंग से टकराकर नदी में गिर गई. इस हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई है, जबकि दो लोग घायल हैं. दोनों घायलों को इलाज के लिए नबीनगर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिसमें से एक की स्थिति गंभीर बनी हुई है. वहीं, घटना की सूचना मिलते ही नबीनगर पुलिस आनन-फानन में घटनास्थल पर पहुंची और सभी मृतकों के शव को कार से बाहर निकाला गया.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

प्राप्त जानकारी के अनुसार, झारखंड के छतरपुर के सोनूआटांड़ खाटीन गांव से भगवान साहू के पुत्र प्रकाश कुमार की बारात शनिवार की रात औरंगाबाद जिले के नबीनगर प्रखंड के तोल पंचायत के बाघी गांव में आई हुई थी. शादी समारोह समाप्त होने के बाद रविवार की सुबह करीब तीन बजे सभी लोग अपनी गाड़ी से वापस लौट रहे थे. इन्हीं बारातियों में सात दूल्हे के मित्र भी आए हुए थे, जो अपनी हुंडई कार से वापस लौट रहे थे. जैसे ही उनकी कार बाघी गांव के समीप स्थित नदी के पुल के पास पहुंची, वहां बने टर्निंग पर अनियंत्रित होकर रेलिंग से टकरा गई और पुल से नीचे जा गिरी. इस हादसे मे 5 लोगों की मौत हो गई.

घटना के बाद पुलिस रेस्क्यू में जुटी

घटना की सूचना के बाद नबीनगर पुलिस रेस्क्यू में जुट गई और काफी परिश्रम के बाद कार में फंसे लोगों को बाहर निकाला गया. उन्हें नबीनगर के ही एक निजी नर्सिंग होम लाया गया, जहां चिकित्सकों ने पांच को मृत घोषित कर दिया और दो घायलों के इलाज हो रहा है, जिसमें एक की स्थिति गंभीर बनी हुई है. मृतकों की पहचान छतरपुर के खाटीन गांव निवासी सुनील कुमार के पुत्र रंजीत कुमार, खजूरी गांव निवासी संदीप राम के पुत्र अभय कुमार, सड़मा गांव निवासी उपेंद्र चंद्रवंशी के पुत्र अक्षय कुमार, छतरपुर के प्रदीप गुप्ता के पुत्र शुभम कुमार और संजय चंद्रवंशी के पुत्र बबलू कुमार के रूप में की गई है. वहीं, मुकेश कुमार और गुंजन कुमार गंभीर रूप से घायल हैं.

शादी कर लौटने की खुशी मातम में बदली

नवीनगर थानाध्यक्ष बीके सिंह ने बताया कि पुल के नीचे गिरी गाड़ी को क्रेन की मदद से निकालने का प्रयास किया जा रहा है. सभी की पहचान कर ली गई है. ये लोग बारात से लौट रहे थे. इधर, घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. शादी कर लौटने की खुशी मातम में बदल गई है.