जदयू का प्रमंडलीय सम्मेलन आयोजित, छपरा, सिवान व गोपालगंज से पहुंचे जदयू कार्यकर्ता

0
jadyu

परवेज अख्तर/सिवान : शहर के गांधी मैदान में बुधवार को जदयू का प्रमंडलीय कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया गया। जहां लोक सभा चुनाव से पूर्व जदयू ने अपनी ताकत विपक्षी दल को दिखाई। इस कार्यकर्ता सम्मेलन में हजारों की संख्या में तीनों जिलों से पार्टी के विधायक अपने अपने समर्थकों के साथ पहुंचे थे। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित जदयू के राष्ट्रीय महासचिव सह संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह ने अपने भाषण में केंद्र और राज्य में काबिज एनडीए की सरकार की जमकर बढ़ाई की। उन्होने मंच से विरोधियों पर जमकर तरकस के तीर छोड़े। मंच से कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहाकि अगर कांग्रेस आम आदमी की पार्टी है और उसमें दम है तो राहुल गांधी परिवारवाद छोड़कर किसी सामान्य कार्यकर्ता को पार्टी का अध्यक्ष बनाए। कांग्रेस ने जिस पार्टी का दामन बिहार में थामा है उसमें भी वंशवाद ही शुरू से कायम है। राजद में आज तक कोई दूसरा कार्यकर्ता पार्टी का अध्यक्ष नहीं बना। ऐसे में यह पार्टी आने वाले लोकसभा चुनाव में जितने का सपना देख रही है। जिसे जनता जनार्दन कभी पूरा नहीं होने देगी। यह वही सिवान है जहां पहले दवा के जगह पर लोगों को पिस्तौल की गोलियां दी जाती थीं, लेकिन जब से राजग की सरकार बनी लोगों को दवा दी गई। उन्होंने सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहाकि कहा कि मनरेगा योजना के तहत सिवान जिले को समृद्ध जिला होने के चलते वंचित कर दिया गया था। लेकिन पहली बार मनरेगा के तहत इस जिले को शामिल करने का काम नीतीश कुमार ने किया। नीतीश सरकार ने न्याय के साथ विकास की राह में सभी वर्ग के 60वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को चार सौ रुपया प्रति माह पेंशन दिए जाने का सबसे बड़ा निर्णय लिया है। इसके लिए किसी दलाल के चक्कर में नहीं पड़े। आवेदन करें काम हो जाएगा। पहली सरकार है जिसने किसानों को समृद्ध करने के लिए तीन-तीन कृषि रोड मैप तैयार किया है। पुलवामा में शहीदों की शहादत को याद करते हुए कहा कि हिंदुस्तान शांतिप्रिय देश है। पा िस्तान की पाक हरकतों का करारा जवाब देना हमारे जवान जानते हैं। वे पीछे से वार करना बंद करे। अन्यथा उनका मुंह तोड़ जवाब देने से हमारे जवान पीछे नहीं हटेंगे। देश में खाद्यान की स्थिति को मजबूत करने वाले अन्नदाताओं को सरकार 60 वर्ष उम्र पार करने पर पेंशन देने व मनरेगा के तहत खेती में लग रही मजदूरी का भुगतान करने की कावायद शुरू कर दी है। इसके बाद परिवहन मंत्री संतोष निराला, प्रवक्ता अजय आलोक, सचेतक रामसेवक सिंह, प्रो. रामवचन राय, यूनूस हकिम आदि नेताओं ने नीतीश कुमार को जनता की सेवा करने वाला मुख्यमंत्री बताते हुए अनुसूचित जाति, जन जाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यकों के लिए चलाई जा रही योजनाओं पर प्रकाश डाला। कहा कि वे बिहार को विकसित राज्य बनाने के लिए काम कर रहे हैं। इसलिए आने वाले लोक सभा चुनाव में एनडीए गठबंधन को सभी सीटों से जीता कर नीतीश कुमार की झोली भरने का काम करें। इससे पहले सभी अतिथियों का स्वागत माला, शॉल, टोपी पहना कर जिला परिषद संगीता देवी सहित कई नेताओं के द्वारा किया गया। सम्मेलन की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष इंद्रदेव सिंह पटेल ने की। सम्मेलन में विधायक रमेश सिंह कुशवाहा, कविता सिंह, हेमनारायण साह, अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय, मनोरंजन सिंह उर्फ धुमल सिंह, प्रमोद पटेल, अल्ताफ आलम, मंजीत सिंह, गौतम सिंह, शैलेंद्र प्रताप सिंह आदि ने संबोधित कर सरकार की योजनाओं को लोगों के जेहन में उतारा। मौके पर भीषम सहनी, विनोद कुमार राय, कृष्ण कुमार, छोटेलाल राय, लालबाबू राय, कौशलेंद्र सिंह, अजय सिंह, भृगु सिंह कुशवाहा, मुर्तुजा अली कैसर, मुर्तुजा अली पैगाम, प्रो. जयराम यादव, विजय प्रसाद वर्मा, कुणाल आनंद, विवेक शुक्ला, असरफ अंसारी, राजेश्वर चौहान, मंसूर आलम, दिनेश सिंह, निकेशचंद्र तिवारी, अल्बदुल करीम रिजवी, सतेंद्र सहनी, बैजनाथ प्रसाद, लालबाबू प्रसाद, सुनील कुमार,नजबुल होदा, सबर इमाम, अभय सिंह सहित कई लोग शामिल थे।