जीरादेई: जुआ खेलने के दौरान रुपये की लेनदेन में युवक की चाकू गोदकर हत्या

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के जीरादेई थाना क्षेत्र के जामापुर गांव में शुक्रवार की देर रात जुआ खेलने के विवाद में युवक की चाकू घोंप कर निर्मम हत्या कर दी गई। इस घटना के बाद गांव में सनसनी फैल गई। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। मृतक की पहचान जमापुर निवासी नरेश चौहान के पुत्र परमेंद्र चौहान के रूप में हुई है। घटना के संबंध में स्वजनों ने बताया कि परमेंद्र चौहान गांव के ही कुछ युवकों के साथ जुआ खेल रहा था। इस क्रम में वह दो सौ रुपये जीत गया और युवकों से जीते रुपये की मांग करने लगा। रुपये देने में युवकों ने आनाकानी शुरू कर दी। इस बात को लेकर उसका युवकों से विवाद हो गया। इस क्रम में युवकोंं ने परमेंद्र के शरीर पर कई जगह चाकू से प्रहार कर घायल कर दिया और फरार हो गए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

जब घटना की जानकारी स्वजनों को हुई तो स्वजन घटनास्थल पर पहुंच खून से लथपथ परमेंद्र चौहान को इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए जहां उसकी स्थिति गंभीर बता चिकित्सक द्वारा प्राथमिक उपचार के बाद सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा स्वजनों को सौंप दिया। इस घटना के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई। पुलिस घटना में संलिप्त बदमाशों की पहचान कर गिरफ्तारी में जुट गई है। थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने बताया कि इस मामले में अब तक स्वजनों द्वारा आवेदन नहीं मिला है। स्वजन अभी युवक के दाह संस्कार में लगे हैं। आवेदन मिलते ही प्राथमिकी कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। ऐसे पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

WhatsApp Image 2022 10 22 at 8.07.54 PM

परमेंद्र चौहान की हुई हत्या के बाद गांव में दहशत का माहौल है। लोगों में घटना को लेकर आक्रोश देखा गया। हत्या के बाद स्थानीय विधायक अमरजीत कुशवाहा ने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर ढाढ़स बंधाया। इस संबंध में उन्होंने थानाध्यक्ष से बात की। विधायक ने कहा कि इस तरह की घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी और आने वाले दिनों में पार्टी इसके खिलाफ सड़क पर उतरेगी। वहीं परमेंद्र चौहान की मौत के बाद स्वजनों के चीत्कार से माहौल गमगीन हो गया। पत्नी उषा देवी, मां सुगंधी देवी समेत अन्य स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। आसपास के ग्रामीण स्वजनों को ढाढ़स बंधा रहे थे। मृतक को तीन पुत्री एवं एक पुत्र है। वहीं बच्चों के रोने से वहां उपस्थित लोगों की आंखें नम हो जा रही थीं।