असांव : में मनगढंत तरीके से फंसाने को ले एसपी से लगाई न्याय की गुहार

0

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के असांव थाने के महमूदपुर निवासी अंजनी मांझी ने एसपी को एक आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाया है. उन्होंने अपने आवेदन में कहा है कि 12 मार्च को मेरे ज्येष्ठ स्व ओमप्रकाश के पुत्र अमृत लाल उर्फ भोला का रेल टिकट सीवान से लखनऊ और लखनऊ से दिल्ली तक था. मेरे ज्येष्ठ का लड़का दिल्ली में किसी निजी कंपनी में कार्यरत था. फिर दिल्ली में किसी निजी कंपनी में कार्य के लिए जाना था. फिर अचानक 14 मार्च 21 को गांव वालों ने हल्ला किया कि अमृतलाल के गांव का बुधुराम की लड़की चांदनी कुमारी के साथ प्रेम प्रसंग चलता है. चुकी पूर्व से ही बुद्धू राम के परिवार के सदस्य संतोष राम पूरे परिवार से जमीनी विवाद चलता आ रहा है. जिसके वजह से वे लोग मेरे पूरे परिवार के साथ मारपीट किए थे. स्थानीय थाने में कांड संख्या 42/13 दर्ज है. जो हो माननीय न्यायालय सीवान में विचाराधीन है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

एक दीवानी का मुकदमा नंबर 293/ 20 है जो अवर न्यायधीश दीवान के न्यायालय में विचाराधीन है. बुधुराम एवं संतोष राम अत्यंत ही उदंड, लठियल अपराधीक प्रवृति वाले ब्यक्ति है.उक्त दोनों लोगों ने कई बार मुकदामा को उठाने के लिये मेरे ससुर विद्यार्थी राम , अजय कुमार व भसूर अभय कुमार पर दबाव बनाये है. मुकदमा नहीं उठाने की स्थिति में गंभीर अंजाम भूगतने की धमकी दिये है.अभी कुछ रोज पहले इस बात की जानकारी हुई थी. कि असांव थाना कांड संख्या 39/21 में 78 वर्षीय वृध्द सेवानिवृत्त सरकारी शिक्षक विद्यार्थी राम, ज्येष्ठ अभय कुमार जो समाजिक सऱोकार रखने वाले व्यक्ति है. मेरे पति अजय कुमार जो सरकारी विद्यालय में शिक्षक है. मेरे ज्येष्ठ अभय कुमार का पुत्र आनंद मधूकर ने जो बीपीएससी करने के पश्चात प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी पटना में रहकर करता है व सरकारी अनुसूचित कल्याण महेंद्रू पटना में रहता है.इन चारों निर्दोष लोगों को झूंठे केश में फंसाकर तबाह करने का षड़यंत बुद्धू राम व संतोष राम के द्वारा बनाया गया है. इस वजह से हमलोग मानसिक, आर्थिक एवं समाजिक प्रताताड़ना के शिकार हो गये है.