शादी का झांसा देकर अपने प्रेम जाल में फंसाकर लाडो को पहुंचाया रेडलाइट एरिया, फिर युवती ने की आत्महत्या

0

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
कहा जाता है कि प्यार जाति मजहब एवं ऊंच नीच तथा गरीब एवं अमीर नहीं देखता है। मगर अब यही प्यार लाडो के लिए गले की फांस बन रहा है। प्यार के जाल में फंसकर लाडो देहमंडियों तक पहुंच रही है। प्यार में बहुत करने का ख्वाब पाले लाडो का देह मंडी पहुंचते ही जीवन नरक में तब्दील हो जाता है। अनगढ़ के जिले देह मंडी में युवती ने आत्महत्या की वह भी इस प्यार के प्रेम जाल का शिकार हुई थी और वह अनगढ़ देहमंडी पहुंच गयी। उसे शादी का झांसा देकर अपने प्यार के जाल में फंसाने वाला रिषभ उर्फ मौसम था जिसने उसे अनगढ़ की देह मंडी पहुंचा दिया। जब युवती को देह व्यापार के लिए रिषभ उर्फ मौसम द्वारा मजबूर किया जाने लगा तो उसने आत्महत्या कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 7.27.12 PM
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

आत्महत्या करने वाली युवती के मोबाइल फोन से पुलिस को कई अहम राज हाथ लगे हैं। युवती जिस मोबाइल फोन का उपयोग कर रही थी वह रिषभ उर्फ मौसम के नाम से निर्गत मोबाइल सीम लगा हुआ था। इसमें युवती एवं रिषभ के साथ की कई तस्वीरों के अलावा पुलिस को शादी का एक फर्जी प्रमाण पत्र भी मिला है। पुलिस को जांच में इस बात की भी जानकारी मिली है की रिषभ उर्फ मौसम के खिलाफ लड़कियों को शादी का झांसा देकर फंसाने एवं उसे फिर देह मंडी में बेचने के मामले में उसके खिलाफ पास्को एक्ट सहित कई धाराओं में मामले दर्ज है। कुछ मामले में वह जेल जाने के बाद जमानत पर बाहर भी है। बताया जाता है कि रिषभ उर्फ मौसम एक दर्जन से अधिक लड़कियों को शादी का झांसा देकर अपने प्रेम जाल में फंसाकर देहमंडी पहुंचा चुका है।

युवती का शव लेने वाले गुलाब को पूछताछ के लिए पुलिस ने लिया हिरासत में

अनगढ़ देहमंडी में युवती द्वारा आत्महत्या करने के बाद किशनगंज के कोचाधामन थाने की पुलिस द्वारा शव का पोस्टमार्टम कराया गया था। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने इस युवती के शव को पंचनामा के आधार पर शव को सौंप दिया था। इस पंचनामा में गुलाब नाम के एक व्यक्ति ने पुलिस के समक्ष दावा किया था कि यह शव उसके भांजे रिषभ उर्फ मौसम की पत्नी का है। अब जब रिषभ के कारनामे का खुलासा पुलिस के पास हो गया है तो किशनगंज के कोचाधामन की पुलिस ने गुलाब को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। पुलिस गुलाब से यह पूछताछ कर रही है की वह रिषभ का कब से और कैसे जानता है। रिषभ के ठिकाने कहां – कहां है तथा देह मंडी का कारोबार वह किस तरह से संचालित करता है। गुलाब से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस कुछ अन्य लोगों को भी हिरासत में लेने की तैयारी में जुटी हुई है।

रिषभ का किशनंगज के पांजीपाड़ा देह मंडी का मिला था लोकेशन

युवती की आत्महत्या किए जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए कोचाधामन पुलिस देह व्यापार के इस पूरे नेटवर्क के ध्वस्त करने में जुटी हुई है। इस दौरान पुलिस को रिषभ उर्फ मौसम के ठिकानों के बारे में कई अहम जानकारी मिली है। जिस दिन युवती ने आत्महत्या की है उसके एक दिन पूर्व का रिषभ का लोकेशन अनगढ़ का पुलिस को मिला है। जबकि आत्महत्या करने की घटना के बाद उसका मोबाइल लोकेशन पूर्णिया के कटिहार मोड़, जीरो माइल एवं रानीपतरा का मिला है। इसके बाद उसका लोकेशन पुलिस को पांजीपाड़ा स्थित रेड लाइट एरिया का मिला। जहां जाकर पुलिस ने छापेमारी भी की लेकिन उसके पहले ही रिषभ अपना ठिकाना बदल चुका था। रिषभ पुलिस को चकमा देने के लिए लगातार अपना मोबाइल फोन बदल रहा है मगर तू डाल- डाल तो मैं पात- पात की तर्ज पर पुलिस भी लगातार उसके लोकेशन पर नजर रख रही है।

देह व्यापार के कई धंधेबाजों से हैं रिषभ की सांटगांठ

पुलिस जांच में यह बात भी सामने आई की रिषभ की सांठगांठ देह व्यापार के कई धंधेबाजों से हैं। इसमें बुधन के अलावा कटिहार मोड़ की ङ्क्षरकी खातून शामिल है जिनसे अक्सर उसके द्वारा लड़की की खरीद बिक्री की जाती है। ङ्क्षरकी खातून के यहां पुलिस की पूर्व में छापामारी में भी खरीदी गयी लड़कियां बरामद हो चुकी है। वर्तमान में उसके द्वारा कई ठिकानों पर देह व्यापार का कारोबार संचालित किया जा रहा है। बुधन अकबर खलीफा से जुड़ा हुआ है जिसकी पत्नी के खिलाफ जिले के कई थानों में लड़की की खरीद बिक्री एवं देह व्यापार कराने का मामले दर्ज है। सहायक खजांची खाने की पुलिस भी अकबर खलीफा की पत्नी को होटल में देह व्यापार कराने के मामले में तलाश रही है। सीमाचंल के जिलों में जितने भी देह व्यापार के ठिकानें है सब पर स्थानीय पुलिस को लगातार छापामारी अभियान चलाने का निर्देश दिया गया है और अगर कही से लड़की के खरीद बिक्री का मामला सामने आता है तो इसके आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा गया है. सुरेश प्रसाद आइजी पूर्णिया