गोपालगंज: पुलिस लाइन से तीन दिनों से लापता जवान की हत्या

0
  • सीवान के जगदीशपुर गांव का रहनेवाला था मृतक जवान
  • एसपी ने की जांच, शरीर पर मिले कई जगह चोट के निशान

गोपालगंज: गोपालगंज के पुलिस लाइन में तीन दिनों से लापता जवान का गुरुवार की सुबह नाले में शव मिला. हत्या के बाद साक्ष्य को मिटाने के लिए शव नाला में छिपाया गया था. मृतक जवान की पहचान अजीत कुमार के रूप में की गयी है, जो सीवान जिला के महाराजगंज थाना क्षेत्र के जगदीशपुर निवासी नंदकिशोर सिंह का पुत्र था. गोपालगंज में जिला पुलिस बल का जवान था. सिविल कोर्ट परिसर में ड्यूटी थी. वारदात की खबर मिलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी. सूचना मिलते ही एसपी आनंद कुमार ने घटनास्थल पर जांच की. एसपी ने मृतक जवान के परिजनों और पुलिस मेंस एसोसिएशन के पदाधिकारियों से जानकारी ली.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

बताया जाता है कि अजीत कुमार सिंह बीते 26 जुलाई को रात में खाना खाने के बाद हाफ पैंट पर टहलते हुए पुलिस लाइन में दिखे थे. उसके बाद अपने कमरे में सोने चले गये. सुबह होने पर अजीत के कमरे में साथी जवान पहुंचे तो गायब मिला. जिसके बाद से लापता जवान के बारे में खोजबीन शुरू की गयी. मामले में जानकारी पुलिस कप्तान और लापता जवान के परिजनों को दी गई. पुलिस और परिजन खोजबीन कर ही रहे थे कि गुरुवार की सुबह पुलिस लाइन के पास काली स्थान रोड में शिव मंदिर के समीप नाले में जवान का शव मिला. चेहरा और सिर के पास गहरे जख्म के निशान मिले हैं. करीब तीन घंटे की जांच पड़ताल के बाद शव को बाहर निकाला गया तो मृतक की पहचान हुई.

आशंका जताई जा रही है कि जिस दिन लापता हुए, उसी समय जवान की हत्या कर दी गयी. क्योंकि जवान का शव बदबू दे रहा था और शव सड़ चुका था. नगर थाने की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया, उसके बाद पुलिस लाइन में पार्थिव शरीर को लाया गया, जहां पुलिस मेंस एसोसिएशन के पदाधिकारियों और पुलिस अधिकारियों ने बारी-बारी से सलामी दी. इसके बाद दाह-संस्कार के लिए पार्थिव शरीर को पैतृक गांव सीवान के जगदीशपुर भेज दिया गया.