मनुष्य परमात्मा की संतान है, बैकुंठ हमारे परम पिता का घर : दुर्गा प्रकाश महाराज

0
parmatma

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के महाराजगंज प्रखंड के पटेढ़ी योगी ब्रह्म स्थान के प्रांगण में पिछले सात दिनों से चल रहा विष्णु महायज्ञ अब समाप्ति की ओर बढ़ चला है। 24 नवंबर से शुरू होकर 2 दिसंबर तक चलने वाले विष्णु महायज्ञ में श्रद्धालुओं को खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। वहीं पूजा एवं परिक्रमा के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। नौ दिवसीय चलने वाले विष्णु महायज्ञ में प्रवचन के दौरान शुक्रवार की संध्या वाराणसी से पधारे आचार्य दुर्गा प्रकाश महाराज ने कहा कि हम सब परम पिता परमात्मा की संतान हैं और बैकुंठ हमारे परम पिता का घर है। पिता के घर और पिता की संपत्ति पुत्र का पूरा अधिकार होता है। मुक्ति और सुख तो हमारे परम पिता के दास और दासी हैं। महाराज ने कहा कि परम पिता परमात्मा की संतान होने के नाते बैकुंठ, मुक्ति और सुख पर हमारा पूरा अधिकार है। सुख तो हमें विरासत में मिलने वाले है। उन्होंने कहा परमात्मा के पुत्र तीन प्रकार के होते हैं क्रमश: पुत्र, सुपुत्र और कुपुत्र। पुत्र को और सुपुत्र को तो पिता की संपत्ति मिलती ही है।, लेकिन पुत्र यदि कुपुत्र में शंका रहती है, क्योंकि जो पुत्र आज्ञाकारी नहीं होता जिसके मन मे पिता के प्रति आदर भाव नहीं होता तो ऐसे पुत्र को पिता भी अपनी संपत्ति से बेदखल करके उसे दे सकते हैं जो उनकी सेवा करे। अतः परमपिता परमात्मा जो कहते हैं उसका अनुकरण करें, धर्म के मार्ग पर चलें तो हमें बैकुंठ जाने में मुक्ति पाने और सुखी होने में कोई संदेह नहीं। महायज्ञ को सफल बनाने में मौजूद पूजा कमेटी के सदस्य देवरिया पंचायत के मुखिया अजीत प्रसाद उर्फ आजादी बाबू, रामाशंकर शाही, भिखारी बाबा, विजय यादव, रवि कुमार, बबलू शाही, देवरिया पैक्स अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह,केबी कुशवाहा, अजय पटेल, हरेंद्र पटेल, भाजपा नेता प्रभात कुमार सिंह, अनिल चौधरी आदि मौजूद थे।