बिहार में कल से मैट्रिक की परीक्षा शुरू, जानें कैसा रहेगा प्रश्न पत्रों का पैटर्न

0

पटना : बिहार में कदाचार मुक्त मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 2021 के लिए इस बार उत्तरपुस्तिका और ओएमआर पर परीक्षार्थी का फोटो दिया गया है। यह वही फोटो होगा जो परीक्षार्थी के प्रवेश पत्र पर रहेगा। इससे उत्तरपुस्तिका सुरक्षित रहेगी। परीक्षा के दौरान छात्र के चेहरे से उत्तरपुस्तिका का मिलान किया जायेगा। इसकी जानकारी बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने दी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

उन्होंने बताया कि प्रश्न पत्र में सौ फीसदी अतिरिक्त विकल्प दिए जाएंगे। बोर्ड द्वारा पहली बार वस्तुनिष्ठ और विषयानिष्ठ में सौ फीसदी अतिरिक्त प्रश्नों का विकल्प दिया जायेगा। इससे छात्रों को उत्तर देने में सुविधा होगी। ज्ञात हो कि मैट्रिक की परीक्षा 17 से 24 फरवरी तक चलेगी।

ठंड को देखते हुए इंटर की तरह मैट्रिक परीक्षार्थी भी परीक्षा केंद्र पर जूता-मोजा पहन कर जाएंगे। इस बार मैट्रिक परीक्षा में कुल 16 लाख 84 हजार 466 परीक्षार्थी शामिल होंगे। आधे परीक्षार्थी प्रथम पाली और आधे परीक्षार्थी द्वितीय पाली में शामिल होंगे। बोर्ड की मानें तो अगर किसी छात्र के प्रवेश पत्र में फोटो की त्रुटि हो तो भौतिक सत्यापन करके प्रवेश दिया जायेगा। भौतिक सत्यापन के लिए परीक्षार्थी को आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट और फोटायुक्त बैंक पासबुक में से किसी एक दस्तावेज को लेकर आना होगा।

परीक्षा शुरू होने के दस मिनट पहले तक ही मिलेगा प्रवेश 

बोर्ड की मानें तो छात्रों को परीक्षा शुरू होने के दस मिनट पहले तक ही प्रवेश मिलेगा। प्रथम पाली की परीक्षा 9.30 बजे शुरू होगी। इसके लिए परीक्षार्थी को 9.20 बजे तक प्रवेश मिलेगा। वहीं दूसरी पाली 1.45 बजे शुरू होगी, इसके लिए परीक्षा केंद्र पर 1.35 बजे तक प्रवेश मिलेगा। प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर कैलकुलेटर, मोबाइल फोन, ब्लूट्रूथ, ईयरफोन आदि लेकर जाने की अनुमति नहीं दी जायेगी।

16 से 24 तक चलेगा कंट्रोल रूम 

बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। कंट्रोल रूम 16 फरवरी से 24 फरवरी तक चलेगा। हर दिन सुबह छह से शाम छह बजे तक कंट्रोल रूम चालू रहेगा। किसी तरह की दिक्कत होने पर 0612-2230009 नंबर पर फोन किया जा सकता है।

ऐसा रहेगा प्रश्न पत्रों का पैटर्न 

सौ अंकों के विषय में विद्यार्थी को 50 अंकों का वस्तुनिष्ठ प्रश्न करना होगा। इसमें प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होगा। इनमें प्रश्न तो सौ रहेंगे लेकिन उत्तर 50 का ही देना है। वहीं दो और पांच अंकों के विषयानिष्ठ प्रश्नों में भी विद्यार्थी को चार और दस प्रश्न मिलेंगे। हर प्रश्न का एक अतिरिक्त प्रश्न रहेगा।

कुल परीक्षार्थी: 16,84,466
छात्र परीक्षार्थी: 8,46,663
छात्रा परीक्षार्थी: 8,37,803
प्रथम पाली में कुल परीक्षार्थी: 8,46,969 (छात्र 4,24,308, छात्रा 4,22,661)
द्वितीय पाली में कुल परीक्षार्थी: 8,37,497 (छात्रा 4,15,142, छात्र 4,22,355)

परीक्षा केंद्र पर रहेंगे ये सारे इंतजाम : 

  • परीक्षा केंद्र पर प्रवेश के समय दो बार परीक्षार्थियों की जांच होगी
  • एक बार गेट पर और दूसरी बार परीक्षा हॉल में
  • -एक वीक्षक पर 25 परीक्षार्थी होंगे, इसकी जांच वीक्षक द्वारा की जायेगी
  • -परीक्षा में प्रश्न पत्र के दस सेट रहेंगे, हर परीक्षार्थी को एक-एक सेट दिया जायेगा
  • -परीक्षा केंद्र के अंदर केवल प्रवेश पत्र, कलम व पेंसिंल लेकर जाना है
  • -हर केंद्र पर सीसीटीवी से परीक्षार्थियों पर नजर रखी जायेगी
  • -दिव्यांग परीक्षार्थी को अधिकतम 20 मिनट प्रति घंटा का अतिरिक्त समय दिया जायेगा

मैट्रिक परीक्षा में चार हजार शिक्षकों को बनाया गया वीक्षक

पटना जिले की बात करें तो कुल 74 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा आयोजित की जायेगी। परीक्षा में चार हजार वीक्षक बनाये गये हैं। जिले भर से कुल 73 हजार 030 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसमें 38,145 छात्राएं और 34,885 छात्र परीक्षार्थी शामिल होंगे। प्रथम पाली में 37 हजार 335 और दूसरी पाली में 35 हजार 695 परीक्षार्थी शामिल होंगे। बांकीपुर बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, गर्दनीबाग बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, शास्त्रीनगर बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय और कमला नेहरू उच्च माध्यमिक विद्यालय को आदर्श केंद्र बनाया गया है। डीपीओ माध्यमिक श्याम नंदन ने बताया कि कदाचार मुक्त परीक्षा की पूरी तैयारी कर ली गयी है। परीक्षा में चार हजार वीक्षक लगाये गये हैं।