तरवारा बाजार के कब्रिस्तान की घेराबंदी को लेकर बैठक संपन्न

0

ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर की शिकायत

परवेज अख्तर/सीवान:
जिले के पचरुखी प्रखंड क्षेत्र के तरवारा बाजार स्थित गंडक नदी के तट पर अवस्थित कब्रिस्तान की घेराबंदी व रास्ते को अतिक्रमण मुक्त कराने को लेकर काजी टोला गांव में एक बैठक संपन्न हुई। बैठक तरवारा पंचायत के पूर्व मुखिया प्रत्याशी सह समाजसेवी रहमतुल्लाह अंसारी के अध्यक्षता में की गयी।इसके साथ ही कब्रिस्तान की जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए जिला प्रशासन को ज्ञापन देकर अवगत कराया गया।लोगों का कहना है कि कब्रिस्तान की घेराबंदी के लिए मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार तक शिकायत की गयी। इसके बावजूद पचरुखी सीओ व जिला प्रशासन के उदासीनता के वजह से कब्रिस्तान की घेराबंदी अब तक नहीं कराया जा सका।जिससे काजी टोला व तरवारा बाजार के लोगों में रोष है।यही नहीं विधान परिषद सत्र में कब्रिस्तान की घेराबंदी को लेकर सवाल भी उठाए गए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

इसके आलोक में गृह सचिव के अनुशंसा पर जांच भी किया गया। इसके बाद जांच रिपोर्ट जिला व प्रखंड कार्यालय से मांग की गयी।इसके बावजूद स्थानीय प्रशासन द्वारा न ही कब्रिस्तान की घेराबंदी कराई गई और न ही अतिक्रमण मुक्त कराया गया। इस मौके पर जदयू अल्पसंख्यक के प्रदेश महासचिव अब्दुल करीम रिजवी,मरगूब सईद अंसारी, मोहम्मद इस्लाम अंसारी, इस मोहम्मद अंसारी, बाबू मोहम्मद अंसारी, मोहम्मद सेराज अंसारी,मौलाना अहमद रजा,मौलाना मोहम्मद अली शाह, गयासुद्दीन शाह, मौलाना अब्दुल हमीद, नसरुल्लाह अंसारी,मोहम्मद हसन जान अंसारी, मोहम्मद इब्राहिम अंसारी, छोटे मियां, मोहम्मद यूनुस अंसारी, शेख नौशाद आलम, शेख अमिरुल्लह, कलीमुल्लाह ठेकेदार ,सोनू अंसारी,गोल्डेन सैफी,आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।