मानवाधिकार के स्थापना दिवस पर हुई बैठक

0
manav adhikar

परवेज अख्तर/सीवान :- जिले के हसनपुरा प्रखंड के हसनपुरा स्थित दिलशाद हुसैन उर्फ प्यारे बाबू के आवास पर मंगलवार को मानवाधिकार दिवस के स्थापना पर एक बैठक की गई। बैठक सिसवन प्रखण्ड के मानवाधिकार जागरूकता संगठन के प्रखण्ड अध्यक्ष विजयकांत सिंह के अध्यक्षता में की गई। जिसमें हर पहलू पर विचार कर मानवाधिकार के हनन पर चर्चा करते हुए थाना के क्रियाकलाप पर दुख प्रकट किया गया। बता दें कि गरीबी मानव अधिकारों के हनन का सबसे बड़ा कारण है, इसलिए गरीबी को खत्म कर मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराए बिना मानव अधिकार के लिए लड़ाई नहीं लड़ी जा सकती है। गरीबी की इसी समस्या को देखते विश्व मानवाधिकार दिवस पर कई सारे गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा गरीबी से लड़ने के रुपरेखा तैयार करने का कार्य किया जायेगा। इसके साथ ही शोषित समाज के लोगों को उनके मानवाअधिकारों के विषय में जानकारी देकर उन्हें उनके अधिकारों के प्रति जागरुक किया जायेगा। किसी भी देश में मानव गरीबी सबसे बड़ी मानव अधिकार चुनौती है। मानव अधिकार दिवस मनाने का मुख्य लक्ष्य या उद्देश्य मानव जीवन से गरीबी का उन्मूलन और जीवन को अच्छी तरह से जीने में मदद करना है। मौके पर दिलशाद हुसैन उर्फ प्यारे बाबु, रौनक अली खान, सोहेल खान, संतोष कुमार, भरत बारी, राजेश कुमार सिंह, इसरार हैदर आदि दर्जनों लोग उपस्थित थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal