शरारती तत्वों ने विद्यालय परिसर में घुस किया हंगामा

0
school

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के पचरुखी प्रखंड के नवसृजित प्राथमिक विद्यालय टोला सरैयां परिसर में गुरुवार को गांव के ही कुछ शरारती तत्व द्वारा हंगामा किया गया तथा प्रधानाध्यापक शमशाद अली कैसर के साथ दुर्व्यवहार किया। इस दौरान विद्यालय परिसर में अफरातफरी मच गई। घटना के बाद अधिकांश छात्र-छात्राएं विद्यालय छोड़कर फरार हो गए। शरारती तत्व के उत्पात से गुरुवार को पूरे दिन स्कूल में पठन-पाठन कार्य बाधित रहा। उधर इस घटना को लेकर प्रधानाध्यापक शमशाद अली कैसर ने इसकी सूचना स्थानीय जीबी नगर थानाध्यक्ष ललन कुमार को दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष के निर्देश पर पुलिस टीम घटनास्थल पर पहुंची तथा हंगामा कर रहे शरारती तत्वों की तलाश की, लेकिन पुलिस के आने के पूर्व ही शरारती तत्व स्कूल परिसर छोड़कर फरार हो गया। वहीं जैसे ही पुलिस की टीम विद्यालय से वापस लौटी पुन: शरारती तत्व स्कूल परिसर में आ गया और फिर से प्राचार्य के साथ मारपीट करने लगा। इसके बाद फिर से प्राचार्य अपनी जान बचाकर भाग कर थाने पहुंच कर शिकायत की, जिसके बाद पुलिस ने शरारती तत्व की धरपकड़ के लिए छापेमारी शुरू कर दी। इधर प्रधानाध्यापक द्वारा थाने में दिए गए आवेदन में उल्लेख किया गया है कि गांव के भोखल नट के पुत्र सैयद अली नट विद्यालय में शराब के नशे में धुत्त होकर प्रवेश कर गया। जब मैंने इसका विरोध किया तो वे उनसे उलझ गया तथा हाथापाई भी की। किसी तरह प्रधानाध्यापक विद्यालय से भाग अपनी जान बचाई और स्थानीय पुलिस की मदद ली। उधर पहली सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम को देखकर फरार हो। जब घटना स्थल का मुआयना एवं आरोपित की छापेमारी कर पुलिस टीम मौके पर लौट आई तो पुन: उसके बाद फिर आरोपित सैयद अली नट आ धमका और फिर प्रधानाध्यापक से उलझ कर हाथापाई शुरू कर दिया। इस तरह पूरे दिन विद्यालय परिसर में आरोपित उत्पात मचाता रहा। पीडित प्रधानाध्यापक ने कहा कि सैयद अली नट शराब के नशे में धुत्त होकर विद्यालय परिसर में पहुंच हंगामा कर अपना दबदबा बनाकर रंगदारी वसूलने के फिराक में था। इस संबंध में प्रधानाध्यापक ने कहा कि घटना की जानकारी अपने विभागीय वरीय पदाधिकारी को दी है। प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए स्थानीय थाने की पुलिस को आवेदन देकर मामले को दर्ज कराया है। जीबी नगर थानाध्यक्ष ललन कुमार ने कहा कि पीड़ित प्रधानाध्यापक के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।