सिवान में दूसरी बार जिप अध्यक्ष बनीं एनडीए समर्थित संगीता यादव, उपाध्यक्ष चांद तारा

0

41 सदस्यों ने मतदान में लिया भाग

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
सिवान में एनडीए समर्थित उम्मीदवार व जदयू की महासचिव संगीता यादव लगातार दूसरी बार जिला परिषद की अध्यक्ष निर्वाचित हुईं हैं। सोमवार को समाहरणालय में जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय की उपस्थिति में संपन्न हुए जिप अध्यक्ष के चुनाव में संगीता यादव ने अपने निकटतम व एकमात्र प्रतिद्वंदी रही महागठबंधन समर्थित आशा देवी को पराजित कर जिला बोर्ड की प्रतिष्ठित कुर्सी पर कब्जा जमा लिया। वहीं दूसरी ओर चांद तारा खातून ने उपाध्यक्ष की कुर्सी पर कब्जा जमा लिया। जीत के बाद प्रमाण पत्र के साथ बाहर निकलने पर संगीता यादव ने कहा कि इसी जीत के पीछे एमवाई समीकरण की अहम भूमिका है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

इनके द्वारा एमवाई समीकरण के कारण ही महागठबंधन को हार का सामना करना पड़ा। इसके पूर्व अध्यक्ष व उपाध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद डीएम अमित कुमार पांडेय ने अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष को प्रमाण पत्र देकर पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। साथ ही मत विभाजन के पूर्व सभी नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों को नशा मुक्ति का भी शपथ दिलाई गई। मौके पर आब्जर्वर के रूप में छपरा सारण के एडीएम गगन कुमार एवं जिला पंचायत राज पदाधिकारी राजकुमार गुप्ता,जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी अनिल कुमार राय भी मौजूद थे।

WhatsApp Image 2022 01 03 at 9.33.35 PM

41 सदस्यों ने मतदान में लिया भाग 

WhatsApp Image 2022 01 03 at 9.33.34 PM 1

जिला परिषद के अध्यक्ष पद हेतु संगीता यादव व आशा देवी द्वारा नामांकन पत्र दाखिल किया गया। वहीं उपाध्यक्ष पद के लिए चांद तारा खातून, महागठबंधन समर्थित छोटेलाल यादव व निवर्तमान उपाध्यक्ष ब्रजेश सिंह ने नामांकन पर्चा दाखिल किया। पहले चरण में अध्यक्ष पद के लिए जिला परिषद के 41 सदस्यों के द्वारा गुप्त मतदान कराया गया। इसमें संगीता यादव को 22 व आशा देवी को 17 मत प्राप्त हुए। वहीं दो सदस्यों का मत बोगस हो गया। जबकि उपाध्यक्ष पद की उम्मीदवार चांद तारा खातून को 20 मत, छोटेलाल को 9 व निवर्तमान उपाध्यक्ष को 11 मत प्राप्त हुए। इस प्रकार कुल 40 मत उम्मीदवारों को मिले, जबकि एक मत अविधिमान्य घोषित किया गया। इसप्रकार संगीता यादव ने अध्यक्ष व चांद तारा खातून ने उपाध्यक्ष की कुर्सी पर कब्जा जमा लिया।