लॉकडाउन में झारखंड से साइकिल चलाकर नौ युवक भोरे पहुचे

0
cycle

ग्रामीणों ने गांव में घुसने से रोका, सभी को किया गया क्वारंटिन

परवेज अख्तर/गोपालगंज :- बुधवार को भोरे में झारखंड से साइकिल चला कर वापस लौटे 9 युवकों को ग्रामीणों ने गांव में घुसने से रोक दिया. ग्रामीणों की सूचना के बाद पहुंचे प्रशासन ने सभी को भोरे के हाई स्कूल में क्वारंटिन कर दिया है. बता दें कि भोरे में अभी तक कोरोना के पांच मामले सामने आ चुके हैं. इसके बाद ग्रामीणों का यह कदम साहसिक बताया जा रहा है. बताया जाता है कि थाना क्षेत्र के बसदेवा गांव से कुछ युवक झारखंड के पलामू जिले में रेलवे ब्रिज बनाने का काम करते थे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

इसी दौरान लॉकडाउन हो जाने के कारण उनका काम बंद हो गया और वे वहीं फंस गए. जैसे तैसे दिन व्यतीत कर रहे युवकों के पास जब खाने के लाले पड़ने लगे, तो उनलोगों ने अपनी बची खुची रकम को इकठ्ठा कर उससे साइकिल खरीदी और अपने गांव के लिए चल दिए. तीन दिन साइकिल चलाने के बाद वे बुधवार की सुबह अपने गांव पहुंचे. जिसमें सात युवक बसदेवा, एक युवक लछीचक और एक युवक फुलवरिया का था.

झारखंड से बिहार आए इन युवकों की जांच कहीं भी नहीं की गई. इधर, गांव पहुंचने पर युवकों को ग्रामीणों ने रोक दिया और जांच कराने की सलाह दी. सूचना पाकर पहुंचे प्रशासन के लोगों ने युवकों को गांधी स्मारक हाई स्कूल में बने क्वारंटिन सेंटर पर रख दिया.