महाराजगंज व महादेवा में गोली मारकर दिल दहला देने वाली निर्मम हत्या करने वाला कुख्यात अपराधी कर्मी तरवारा में हुआ गिरफ्तार

0

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
जिले के जी.बी. नगर थाना अध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह के दिशा निर्देश के आलोक में गठित पुलिस टीम ने कई दिल दहला देने वाली निर्मम हत्या कांड में शामिल कुख्यात अपराधी को हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया,संजोग कहिए कि कुख्यात अपराधी जी.बी.नगर थाना पुलिस के हत्थे आसानी से चढ़ गया, नहीं तो जिले की पुलिस को उसकी गिरफ्तारी हेतु लोहे का चना चबाने के समान होता,यहां बताते चले कि सिवान जिले के महाराजगंज शहर में इस वर्ष पांच अगस्त को चार लोगों को गोली मारी गई थी,इसमें दो व्यक्ति की मौत मौके वारदात पर हीं हो गई थी।वहीं महादेवा ओपी क्षेत्र के हाइवे स्थित हकाम गांव के समीप 17 फरवरी की दोपहर ऑटो से मीरगंज जा रही तीन महिलाओं पर भी अंधाधुन फायरिंग की घटना में एक महिला की मौत एवं दो अन्य घायल हो गई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

इन पर हमला करने वाला पचरुखी थाना क्षेत्र के इटवां गांव निवासी कुख्यात अपराधी कर्मी सुजीत साह को जी.बी. नगर तरवारा थाना की पुलिस ने शनिवार की रात हथियार के साथ गुप्त सूचना के आधार पर गिरफ्तार कर लिया था।जिसे पूछताछ के बाद मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में प्रस्तुत किया गया जहां न्यायाधीश ने उसे जेल भेज दिया।सुजीत के साथ उसी के गांव का एक और युवक भी गिरफ्तार हुआ है।जिसका अपराधिक कुंडली पुलिस द्वारा खंगाला जा रहा है। इस संदर्भ में जी.बी.नगर थाना अध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि सुजीत साह पर महादेवा एवं महाराजगंज थाना के अलाव अन्य थानों में भी कई संगीन मामले दर्ज हैं।इन मामलों में वह फरार था।इसकी गिरफ्तारी से पुलिस ने राहत की सांस ली है।वहीं जेल जाने के पूर्व सुजीत से महादेवा ओपी में तैनात एसआइ श्री योगेंद्र पासवान ने जी.बी.नगर थाना पहुंच कर गहराई पूर्वक पूछताछ की।

सुजीत ने पुलिस को बताया कि सैफ को सुपारी मिली थी और मैं बाइक से साथ में था।सैफ बाइक चला रहा था और मैंने पीछे बैठ कर फायरिंग की थी।इसमें एक महिला की मौत हुई थी।वहीं गिरफ्तार सुजीत को अन्य थाना में दर्ज कांड के अनुसंधानकर्ता जल्द ही न्यायालय के आदेश पर रिमांड पर लेकर पूछताछ करेंगे।मिली जानकारी अनुसार मृतक के परिजनों ने दिल दहला देने वाली घटना के बाद अज्ञात अपराधियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराया था। प्राथमिकी दर्ज के बाद पुलिस इस घटना को गहराई पूर्वक अनुसंधान शुरू की उसके बाद केस के अनुसंधान में सुजीत सहित अन्य अपराधी का नाम पूरे सबूत के साथ आया था।दर्ज कांड में सुपरविजन के बाद सुजीत का नाम प्रकाश में आते हीं अन्य थाना की पुलिस उसे गिरफ्तार करने का प्रयास कर ही रही थी कि इसी बीच शनिवार की रात जी.बी. नगर तरवारा थाना की पुलिस ने उसे हथियार के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।