सीवान में करंट लगने से एक की मौत: मकान के निर्माण कार्य में लगा था, चपेट में आया; परिजनों ने सड़क जाम कर किया प्रदर्शन

0

परवेज अख्तर/सिवान: सीवान में शुक्रवार शाम सेंट्रिंग का काम कर रहे मजदूर की करंट लगने से मौत हो गई। घटना जिले के दरौली थाना क्षेत्र के रामपुर सरैया गांव के समीप घटी। जहां स्थानीय लोगों ने विद्युत विभाग के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सड़क को पूरी तरह से बाधित कर दिया। मृतक के परिजनों को मुआवजे की मांग को लेकर सड़क पर अड़े रहे। घटना में मृतक की पहचान थाना क्षेत्र के डरेली मठिया पंचायत के सरैया मठिया गांव निवासी रामविलास यादव का 30 वर्षीय पुत्र मिथलेश यादव के रूप में हुई।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

घटना के संबंध में बताया जाता है कि मजदूर राजमिस्त्री का काम करने के लिए आया हुआ था। इसी दौरान सेंटरिंग करने के दौरान ऊपर से गुजर रहे हाईटेंशन विद्युत तार के संपर्क में आ गया। बता दें कि विद्युत तार के संपर्क में आते हैं वह उसी में चिपक गया और झुलसने से उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी लोगों को हुई तो मौके पर अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया इसके बाद लोगों ने विद्युत विभाग के कर्मियों को घटना की पूरी जानकारी दी। जिसके बाद पावर ऑफ होने के बाद किसी तरह उसे नीचे उतारा गया।

घटना में मजदूर पूरी तरह से झुलस चुका था। वहीं घटना की जानकारी मृतक के परिवार वालों को हुई तो कोहराम मच गया। बताते चलें कि मृतक अपने परिवार में एकलौता कमाऊ सदस्य था। वहीं इस घटना में स्थानीय लोगों ने बताया कि विद्युत विभाग की लापरवाही की वजह से यह घटना हुई है। उनका कहना है कि विद्युत का तार चारों तरफ लचक रहा है लेकिन विद्युत कर्मियों को कई बार जानकारी देने के बावजूद भी अभी तक तार को दुरुस्त नहीं किया गया है।

आक्रोशित भीड़ ने किया यातायात को बाधित

इधर युवक की मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने गुठनी दरौली मुख्य पथ को जाम कर मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग करने लगे। लोगों का कहना है कि जब तक मृतक के परिजनों को विद्युत विभाग के द्वारा उचित मुआवजा नहीं मिल जाता तब तक वह जाम को नहीं हटाएंगे।इधर घटना की जानकारी मिलने के बाद स्थानीय थाने की पुलिस और अधिकारी मौके पर पहुंचकर लोगों को काफी समझा बुझा तथा वरीय अधिकारियों के आश्वासन पर जाम को हटाया गया।