सिसवन में कार सवार युवक से फायरिंग कर लूटे एक लाख नगद व सोने का सिकड़ी

0

बाइक सवार अपराधियों ने कौली छपरा गांव के सामने नहर पर दिया वारदात को अंजाम

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के सिसवन थाना क्षेत्र के कौली छपरा गांव के एक कार सवार युवक ने रविवार की देर रात्रि बाइक सवार बदमाशों के द्वारा फायरिंग कर एक लाख रुपये नगद व एक सोने कि सिकडी लूटने की जानकारी पुलिस को दी हैं. घटाना के बारे में पीड़ित कौली छपरा गांव के छठू यादव के पुत्र दिनेश कुमार यादव ने बताया कि रविवार की देर शाम वह अपने कार से महानगर गांव से पैसा लेकर घर लौट रहा था. तभी तिलौता महानगर सड़क पर गांव के समीप पहुंचने पर पीछे से आए एक बाइक पर सवार हाथियार से लैस दो अपराधियों ने ओवरटेक कर बाइक आगे खड़ा कर मेरी गाड़ी को रोक लिया. बाइक सवार लड़कों में से एक नीचे उतरा. इनमें से एक ने ड्राइवर साइड की खिड़की खोलकर मुझे पकड़ लिया तथा दूसरे युवक ने मेरी जेब से एक लाख रुपये व गले से सोने का सिकड़ी निकाल लिया. इसके बाद भगाने के दौरान आरोपी कार के पीछे तीन गोली चलाई. जिससे गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई. बताया कि एक और बाइक पर तीन अन्य लोग भी हमारे गाड़ी के आस-पास घूम रहे थे. आरोपी बाइक पर सवार होकर भरवालिया गांव की तरफ भाग गए. सूत्रों की माने तो पीड़ित दिनेश यादव ने पुलिस को बताया हैं कि घटना में शामिल एक अपराधी को वह पहचानता है. जिसके बारे में लिखित शिकायत स्थानीय पुलिस को दिया है. इधर पुलिस घटना स्थल पर पहुंच कर मामले की जांच करने में जुट गई है.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

महानगर गांव से पैसा लेकर घर लौट रहा था पीड़ित

पीड़ित दिनेश यादव ने बताया कि वह बीते 12 मई को सऊदी अरब से अपने घर आया है. वह सऊदी अरब में रहता था तो वहां पर जो भी उनको सैलरी मिलती थी, वह ससुर के अकाउंट पर भेजता था. बताया कि उनका ससुर हरपुर गांव निवासी महेश यादव सिसवन थाना क्षेत्र के महानगर गांव में एक शादी समारोह में आए हुए थे. दिनेश अपनी कार से गांव के दो लड़के विशाल यादव व विजय यादव के साथ पैसा लाने महानगर गया था. वह अपने ससुर से एक लाख रुपया लेकर अपने घर लौट रहा था, तभी गांव के समीप सशस्त्र अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया. वहीं सिसवन के थानाध्यक्ष कुमार वैभव ने बताया कि आवेदन प्राप्त हुआ है. मामले की जांच की जा रही है. वहीं मामले को वरीय पदाधिकारी से अवगत करा दिया गया है.