उत्पाद विभाग का कर्मचारी ही करता है शराब की तस्करी….तस्करी करते पकड़े गए चार सरकारी बाबू….

0
sharab baramad

पटना: औरंगाबाद में शराब के साथ उत्पाद विभाग के बड़े बाबू (SI) समेत चार कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने उत्पाद विभाग के कर्मचारी के निजी आवास से चारों को रंगेहाथ पकड़ा। चारों से नगर थाने में पूछताछ चल रही है। DM सौरभ जोरवाल ने मामले में पुष्टि करते हुए बताया कि 13 बोतल शराब के साथ उत्पाद विभाग के 4 कर्मियों को पकड़ा गया है। चारों से पूछताछ जारी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

सदर एसडीओ विजयंत कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी उत्पाद विभाग के कर्मचारी शराब का सेवन कर रहे हैं। सूचना के आधार छापेमारी कर यह कार्रवाई की है। आशंका है कि चारों शराब पार्टी करने के लिए जुटे थे। चारों के पास से 13 बोतल शराब बरामद हुई है। गिरफ्तार उत्पाद कर्मियों की पहचान बड़ा बाबू (SI) भूपेंद्र चौधरी, एएसआई अजय कुमार, विनोद प्रसाद व सिपाही सर्वजीत के रूप में हुई है।

इस संबंध में उत्पाद विभाग के हेड क्लर्क भूपेंद्र चौधरी अपने बचाव में कहा उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। रात में ऑफिस से निकलने के बाद किसी काम से बाजार गया। होटल में मैं खाना खाता हूं। लेकिन बुधवार को सहायक अवर निरीक्षक और सिपाही ने घर पर खाना खाने के लिए बुलाया गया था। जब वहां पहुंचा तो छापेमारी चल रही थी। फिर हमें भी पकड़ लिया गया। हमें इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। हम कुछ नहीं बता सकते।

इस छापामारी में 13 बोतल शराब मिली जिसके बाद इन सभी को पकड़ा गया. कुल 13 बोतल देशी विदेशी शराब छापेमारी के दौरान बरामद हुई है। इनमें से 200 एमएल के दो बोतल टनाका ब्रांड का देशी शराब,3 बोतल 750 एमएल एवं 7 बोतल 375 एमएल का अंग्रेजी शराब तथा एक बोतल 200 एमएल का खुला हुआ देशी शराब शामिल है। उत्पाद अधीक्षक सीमा चौरसिया द्वारा इसकी प्राथमिकी नगर थाना में दर्ज करा दी गई है।

दरअसल, मामले में पुलिस की जहां एक ओर नाक काट रही है वहीं दूसरी ओर शराबबंदी को लेकर इनकी नाकामी उभर कर लोगों के सामने भी आ गयी है. ऐसे में झल्लाये नगर थानाध्यक्ष कवरेज के लिये वहां मौजूद मीडियाकर्मियों से ही उलझ पड़े. थानेदार मीडियाकर्मियों को धमकी तक देने लगे जिसका मीडियाकर्मियों ने भी जमकर विरोध किया।